हैदराबाद में भारतीय स्पिनरों ने न्यूज़ीलैंड को नचाया

 शुक्रवार, 24 अगस्त, 2012 को 23:25 IST तक के समाचार
आर अश्विन

आर अश्विन ने बेहतरीन गेंदबाज़ी की

न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ हैदराबाद टेस्ट में स्पिनरों की बेहतरीन गेंदबाज़ी की बदौलत भारत का पलड़ा भारी नज़र आ रहा है. आर अश्विन और प्रज्ञान ओझा ने न्यूज़ीलैंड की पहली पारी में मिलकर पाँच विकेट लिए.

दूसरे दिन का खेल ख़त्म होने तक न्यूज़ीलैंड ने अपनी पहली पारी में पाँच विकेट पर 106 रन बनाए थे. इससे पहले भारत की पहली पारी 438 रनों पर समाप्त हुई.

भारतीय पारी के हीरो रहे चेतेश्वर पुजारा, जिन्होंने 159 रन बनाए. कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने भी 73 रनों का योगदान दिया. जबकि आर अश्विन ने भी 37 रन बनाए.

पहली पारी में भारतीय स्पिनरों की घूमती गेंदों से परेशान न्यूज़ीलैंड के बल्लेबाज़ एक-एक करके पवेलियन लौटते रहे. दूसरे दिन का खेल समाप्त होने तक स्थिति ये है कि उसे फ़ॉलोऑन बचाने के लिए और 133 रनों की आवश्यकता है.

सफलता

भारतीय टीम

भारतीय टीम ने पहली पारी में 438 रन बनाए हैं

भारत को सबसे पहले प्रज्ञान ओझा ने सफलता दिलाई, जब उन्होंने आक्रामक दिख रहे सलामी बल्लेबाज़ ब्रैंडन मैकुलम को पवेलियन भेजा. मैकुलम ने 27 गेंदों पर तीन चौकों की मदद से 22 रन बनाए.

इसके बाद अपने पहले दो ओवरों में दो विकेट झटककर आर अश्विन ने न्यूज़ीलैंड के कैंप में निराशा की लहर दौड़ा दी.

अश्विन ने अपने पाँचवें ओवर में एक और विकेट लेकर न्यूज़ीलैंड को मुश्किल में डाल दिया. उस समय न्यूज़ीलैंड का स्कोर था चार विकेट पर 55 रन.

पाँचवें विकेट के लिए केट विलियम्सन और जेम्स फ्रैंकलिन ने अच्छी साझेदारी की. एक समय लग रहा था कि ये साझेदारी लंबी खिंचेगी. लेकिन प्रज्ञान ओझा ने पाँचवाँ विकेट झटककर इस साझेदारी को तोड़ दिया.

दोनों ने पाँचवें विकेट के लिए 44 रन जोड़े. विलियम्सन 32 रन बनाकर आउट हुए. जेम्स फ्रैंकलिन 31 रन बनाकर अभी नाबाद हैं.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.