क्या मरे जीतेंगे अपना पहला ग्रैंड स्लैम?

 सोमवार, 10 सितंबर, 2012 को 14:44 IST तक के समाचार
एंडी मरे और नोवाक जोकोविच. तस्वीर- ऑल स्पोर्ट/गैटी इमेजज़

यूएस ओपन में सोमवार को एंडी मरे एक बार फिर अपनी पहली ग्रैंड स्लैम जीत की तलाश में पिछले साल के विजेता नोवाक जोकोविच के सामने होंगे.

ब्रिटेन के नंबर एक खिलाड़ी मरे ग्रैंड स्लैम टूर्नामेट जीतने की चार कोशिशों में विफल रह चुके हैं. ये अपने आप में रिकॉर्ड है जिसे वो अपने कोच इवाल लैंडल से शेयर करते हैं.

आमने-सामने

एंडी मरे नोवाक जोकोविच
25 उम्र 25
4 रैंकिंग 2
6 आमने-सामने 8
23 कुल ख़िताब 31
0 ग्रैंड स्लैम 5
2008 में फ़ाइनल यूएस ओपन 2011 के विजेता

लेकिन पांचवी बार लैंडल जीत गए थे और अब मरे भी ऐसा ही करने की उम्मीद कर रहे हैं.

एंडी मरे दूसरी बार यूएस ओपन के फ़ाइनल में हैं और जोकोविच चौथी बार. फ़र्क सिर्फ़ इतना है कि मरे को पहली जीत का इंतज़ार है जबकि जोकोविच साल 2010 के यूएस ओपन के बाद हार्ड कोर्ट पर लगातार 27 मैच जीत चुके हैं.

एंडी मरे और नोवाक जोकोविच.

एंडी मरे और नोवाक जोकोविच अब तक 14 बार एक दूसरे खेल चुके हैं और इन मैचों में से आठ जोकोविच ने जीते हैं.

पांच बार ग्रैंड स्लैम जीत चुके जोकोविच ने मरे के ख़िलाफ़ हुए 14 मैचों में से आठ मैच जीते हैं लेकिन इन दोनों के बीच लंदन ओलंपिक खेलों में हुआ आख़िरी मैच एंडी मरे के नाम रहा था.

माइकल स्टिच, माइल्स मैकलेगान और निक बोलेटियारी इन दोनों खिलाड़ियों के बीच होने वाले मैच से पहले अपना आंकलन पेश कर रहे हैं.

माइकल स्टिच, 1991 के विंबल्डन चैंपियन

ओलंपिक खेलों ने दिखा दिया है कि एंडी मरे बड़ी प्रतियोगिताओं में, बड़े खिलाड़ियों को हराकर जीत सकते हैं. इसका ये मतलब कतई नहीं है कि वे यूएस ओपन जीत ही जाएंगे लेकिन उनका अब तक का सफ़र काफ़ी ज़बर्दस्त रहा है और वे आत्मविश्वास से भरे दिख रहे हैं.

मुझे नहीं लगता कि उनपर पहले हुए फ़ाइनल मुकाबलों में हार का बोझ होगा. उन्हें तो सिर्फ़ ओलंपिक में मिली जीत याद होगी और वही उनके आत्मविश्वास की नींव होगी.

एंडी मरे जीत के लिए बेकरार हैं. वे अपने और अपने देश के लिए ग्रैंड स्लैम में जीतने का ये सिलसिला तोड़ना चाहते हैं.

उधर जोकोविच ग्रैंड स्लैम के फ़ाइनल में अपने खेल के स्तर को ऊंचा कर सकते हैं. उन्हें मालूम है कि जीत के लिए कितीन मशक्कत करनी पड़ सकती है.

लेकिन जिस तरह की फ़ॉर्म और आत्मविश्वास से एंडी मरे भरे हैं, उन्हें भी लग रहा होगा कि वे जीत सकते हैं.

माइल्स मैकलेगान, एंडी मरे के पूर्व कोच

एंडी मरे थोड़े नर्वस तो होंगे. वैसे नर्वस तो सभी खिलाड़ी होते हैं लेकिन एंडी मरे अधिक नर्वस होंगे क्योंकि एक भी ग्रैंड स्लैम ना जीतने से पहला ग्रैंड स्लैम जीतना उनके लिए ख़ासी महत्त्वपूर्ण होगा.

लेकिन वो इस बात से संतुष्ट होंगे कि उन्होंने अच्छा खेल खेला है और कड़ी मेहनत की है. चाहे वो जीते या हारें उन्हें इस बात की संतुष्टि होगी कि उन्होंने पूरा प्रयास किया था.

एंडी मरे

ओलंपिक में मिली जीत से एंडी मरे काफ़ी उत्साहित हैं.

नोवाक जोकोविच को अबतक किसी कड़े मुकाबले का सामना नहीं करना पड़ा है. मैच से पहले एक दिन के विश्राम का एंडी मरे को फ़ायदा होगा क्योंकि वे कुछ मैचों के दौरान कुछ थके से लगे थे.

मरे को मैदान पर ख़ून और पसीना बहाने के लिए तैयार रहना पड़ेगा. जोकोविच और मरे दोनों ही बेहतरीन एथलीट हैं और ये दोनों के लिए ही आसान मैच नहीं होने वाला है.

एंडी मरे को अपनी पहली सर्विस पर अंक अर्जित करने होंगे और उन्हें नेट पर आकर आक्रमण करना होगा.

अगर एंडी मरे बार-बार नेट पर पहुंचकर हमला बोलते हैं तो वो जीत सकते हैं लेकिन तार्किक बात तो यही है कि जोकोविच जीतने के प्रबल दावेदार हैं.

निक बोलेटियारी, विख्यात टेनिस कोच

नोवाक जोकोविच

नोवाक जोकोविच ने पिछले साल यूएस ओपन में ख़िताब अपने नाम किया था.

मरे को यक़ीन है कि वो जीत रहे हैं. उनमें ये यक़ीन इससे पहले नहीं था. वे भावुक हो सकते हैं जिससे उनका ध्यान बंट सकता है. लेकिन इस वक़्त उनका फ़ोकस बहुत ज़बर्दस्त है. उनके कंधे एक पेराट्रूपर की तरह चौड़े लग रहे हैं. वो एक योद्धा की तरह दिख रहे हैं.

जब तक आपको ये यक़ीन ना हो कि आप विजेता बन सकते हैं तब तक आप जीत नहीं सकते.

मुझे लगता है कि एंडी मरे ज़ोरदार सर्विस करके अंक अर्जित करेंगे. साथ ही उनका फ़ोरहैंड भी मज़बूत दिख रहा है. उनका दोनों हाथों से बैकहैंड भी ख़ूबसूरत है.

जॉन मैकएनरो ने कहा है कि एंडी के हाथ बहुत मज़बूत है और जब मैक ऐसा कहते हैं तो ये बड़ी बात है.

एंडी मरे के कोच इवान लैंडल उनके खेल में धैर्य, आत्मविश्वास और शांतचित्तता लेकर आए हैं. एंडी आप एक विजेता हैं और सिर्फ़ एक ही चीज़ मायने रखती है – जीत.

(माइल्स मैकलेगन से बीबीसी स्पोर्ट्स के डेविड ऑर्नस्टीन से बात की. माइकल स्टिच और निक बोलेटियारी से बीबीसी रेडियो 5 लाइव पर बातचीत हुई थी.)

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.