क्या होगा ईपीएल के सरताज का यूएफ़ा में हाल

ईपीएल के चैंपियन बने मैनचेस्टर सिटी

मंगलावर से चैंपियंस लीग यानी यूरोपीय क्लब फ़ुटबॉल की सब से बड़ी प्रतियोगिता शुरू हो रही है. और फ़ुटबॉल प्रेमियों की निगाहें टिकी होंगी इंग्लैंड के प्रीमियर लीग चैम्पियन मैनचेस्टर सिटी और स्पेन के चैम्पियन रियाल मैड्रिड के बीच होने वाले मैच पर. इस प्रतियोगिता में दोनों टीमें का मुकाबला इस से पहले कभी नहीं हुआ लेकिन इसके बावजूद इस मैच में रुचि सब से अधिक होगी. इस के कई कारण हैं. रियाल मैड्रिड इस टूर्नामेंट के इतिहास में ये खिताब नौ बार जीत कर सब से सफल टीम रही है लेकिन पिछले कुछ सालों में इस प्रतियोगिता में इसे कामयाबी नहीं मिली है. उधर मैनचेस्टर सिटी की टीम पिछले साल इस टूर्नामेंट के पहले ही राउंड में बाहर हो गई थी.

Image caption रोनाल्डो की फ़ॉर्म पर काफी कुछ निर्भर करेगा

लेकिन पिछले चार सालों में मैनचेस्टर सिटी एक बड़ी टीम बनकर उभरी है ख़ास तौर से चार साल पहले जब क्लब को दुबई के शेख मंसूर ने खरीदा. मैनचेस्टर सिटी के कप्तान विन्सेंट कोम्पनी चैंपियन्स लीग में टीम के पहले मैच का बेसब्री से इंतज़ार कर रहे हैं, "इस तरह के मैचों के लिए ही आप चैंपियंस लीग में खेलते हैं. ये एक बहुत बड़ी चुनौती है. हमारी टीम हर मुश्किल मुकाबले के साथ बेहतर प्रदर्शन करती है".

उत्साहित कप्तान कहते हैं वो इस मुकाबले के लिए तैयार हैं.

चलेगा रोनाल्डो का जादू?

विशेषज्ञ औरफ़ुटबॉल प्रेमी रियाल मैड्रिड को फ़ेवरेट टीम मानते हैं. लेकिन क्या खुद नौ बार चैम्पियनशिप को जीतने वाली टीम रियाल मैड्रिड के खेमे में उतना आत्मविश्वास है जितना क्लब के बाहर देखने को मिल रहा है.

इस बार रियाल ने स्पैनिश लीग की शुरुआत काफी खराब की है. लेकिन रोनाल्डो के रुप में इस टीम के पास सब से घातक हथियार है. अगर रोनाल्डो फॉर्म में रहे तो वो अकेले किसी भी टीम को पछाड़ सकते हैं.

रोनाल्डो मंगलवार के मैच के लिए तैयार नज़र आते है, "मेरे विचार में हम सब से कठिन ग्रुप में हैं और हर मैच कांटे की टक्कर साबित होगा. लेकिन हम तैयार हैं" रोनाल्डो का कहना सही है कि उनका ग्रुप सब से कठिन है. इसे 'ग्रुप आफ डेथ' कहा जा रहा है.

दावेदार

इस प्रतियोगिता में 32 टीमें होती हैं जो आठ अलग-अलग ग्रुप में विभाजित कि जाती हैं.

Image caption मैनचेस्टर सिटी ने मई में इंग्लिश प्रीमियर लीग का ख़िताब अपने नाम किया था.

हर ग्रुप से दो टीमें नौक ऑउट स्टेज में प्रवेश करती हैं. रियाल मैड्रिड और मैनचेस्टर सिटी अपने ग्रुप से नौक ऑउट स्टेज में प्रवेश करने के लिए फेवरेट हैं. लेकिन हॉलैंड लीग की चैम्पियन आयैक्स और जर्मन चैम्पियन ब्रोसिया दोर्तमांड को नज़र अंदाज़ करना आसान नहीं होगा. आयैक्स ने, जो चैंपियंस लीग में विजयी रह चुकी है, पिछले साल मैनचेस्टर यूनाइटेड को पछाड़ कर ये साबित कर दिया था की इस प्रतियोगिता में किसी भी टीम को नज़रअंदाज़ नहीं किया जा सकता और इसी लिए ये प्रतियोगिता विश्व फ़ुटबॉल की सब से लोकप्रिय प्रतियोगिताओं में से एक है. मंगलवार को रियाल मैड्रिड के मैदान पर मैनचेस्टर सिटी को कड़ी चुनौती मिलने वाली है.

इंग्लैंड में सफलताओं के बाद मैनचेस्टर सिटी के लिए ये साबित करना ज़रूरी है की वो यूरोप के बड़े स्टेज पर भी अपना जलवा देखा सकती है.

क्लब अच्छा प्रदर्शन करने की क्षमता रखता है, जैसा कि क्लब के एक अधिकारी पैट्रिक वियेरा ने कहा, "हम ने पिछले साल से सबक सीखा है. अब टीम के सभी खिलाडियों का विश्वास है कि वो हर मैच जीतने क्षमता रखते हैं." विशेषज्ञ कहते हैं मैनचेस्टर सिटी कि कोशिश होगी के कम से कम मैच डरा करके एक पॉइंट हासिल किया जाए और जब रियाल मैड्रिड मैनचेस्टर में अपना मैच खेले तब उसे हारने कि कोशिश कि जाए.

संबंधित समाचार