अंपायरों ने ठुकराए फिक्सिंग के आरोप

टी-20 विश्व कप
Image caption आरोपों में घिरे एंपायरों ने टी-20 विश्व कप में एपायरिंग नहीं की

श्रीलंका में हुए टी20 विश्व कप में जिन छह अंपायरों पर मैच फिक्सिंग के आरोप लगे हैं उनमें से तीन ने बीबीसी से बात की है और खुद को निर्दोष बताया है.

भारत के एक निजी टीवी चैनल इंडिया टीवी ने अपने एक स्टिंग ऑपरेशन में श्रीलंका, बांग्लादेश और पाकिस्तान के एंपायरों पर आरोप लगाया है कि वो हाल में श्रीलंका में हुए टी-20 विश्व कप के दौरान पैसे लेकर मैच फिक्स करने को तैयार थे.

आरापों के घेरे में बांग्लादेश के एंपायर नादिर शाह भी हैं. उन्होंने बीबीसी से बातचीत में कहा, “ये बिल्कुल बकवास है. ये लोग मनघडंत कहानियां बना रहे हैं. जो उनके मन में आ रहा है, बोल रहे हैं.”

जिन अंपायरों पर आरोप लगाए गए हैं, उनमें से किसी ने भी टी-20 विश्व कप के आधिकारिक मैचों में अंपायरिंग नहीं की थी.

वैसे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने इन आरोपों की जांच शुरू कर दी है. इंडिया टीवी से भी इस बारे में मौजूद सबूत भी मांगे गए हैं ताकि जांच में उनसे मदद मिल सके.

फिक्सिंग की फांस

नादिर शाह ने बताया, “मुझे नहीं पता था कि ये एक स्टिंग ऑपरेशन था. जब मुझे पता चला कि ये लोग मैच फिक्स करने की कोशिश कर रहे हैं तो मैंने अपने कदम पीछे हटा लिए और वहां से चला गया.”

बांग्लादेशी अंपायर ने आगे बताया, “मैंने तभी अपने एजेंट को बताया. उसने कहा कि आप चुप रहिए मैं मामले को संभाल लूंगा. ये चार पांच महीने पहले की बात है. मैंने (आईसीसी या बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड) को सूचित नहीं किया. बाद में मुझे पता चला कि ये लोग सट्टेबाज थे.”

शाह ने बताया कि उनसे अभी आईसीसी ने इस बारे में कोई संपर्क नहीं किया है “लेकिन मैं उनको सच बताने जा रहा हूं.”

श्रीलंका के जिन तीन अंपायरों पर आरोप लगे हैं उनमें से दो मौरिस जिल्वा और जेमिनी दिसानायके ने भी आरोपों से इनकार किया है.

जिल्वा ने कहा, “मैं सिर्फ इतना ही कहूंगा कि हम निर्दोष हैं. हमने पहले ही श्रीलंका क्रिकेट को कह दिया है कि इस बारे में एक निष्पक्ष जांच कराए. मुझे पूरा विश्वास है कि उनके पास सबूत नहीं होंगे क्योंकि हमने मैच फिक्सिंग को लेकर किसी तरह की बात नहीं की थी.”

उधर श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड की अंपायर समिति ने आपात बैठक के बाद कहा कि इस मामले में कुछ तो गड़बड़ है. समिति के अध्यक्ष एआरएम आरूस ने बीबीसी को बताया कि स्टिंग ऑपरेशन की फुटेज असली लगती है.

उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि उन्होंने कुछ बातों पर सहमत होकर गलती की है.”

संबंधित समाचार