खेल सुधारने के लिए सांसद सचिन के सुझाव

 मंगलवार, 9 अक्तूबर, 2012 को 09:20 IST तक के समाचार
सचिन तेंदुलकर

सचिन तेंदुलकर को राज्यसभा के लिए मनोनीत किया गया है

क्रिकेट के मैदान पर रिकार्डों का अंबार लगाने के बाद मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने अपनी संसदीय पारी खेलते हुए कहा है कि भारत में खेलों को बढ़ावा देने के लिए सबसे ज़रुरी है कि इन्हें अनिवार्य शिक्षा का हिस्सा बना दिया जाए.

सचिन तेंदुलकर ने राज्य सभा सांसद की हैसियत से भारतीय खेलों पर एक दृष्टिपत्र (विज़न डॉक्युमेंट) तैयार किया है और इसे मानव संसाधन विकास मंत्री कपिल सिब्बल व खेल मंत्री अजय माकन को सौंप दिया है.

भारतीय खेलों के लिए भविष्य की योजनाओं पर सचिन तेंदुलकर ने दो पेज के विज़न डॉक्युमेंट के एक साथ-साथ स्लाइड शो सौपा है.

इसमें सचिन ने खेलों के विकास के लिए मुख्य रुप से चार पहलुओं की चर्चा की है.

सचिन का चार सूत्री कार्यक्रम

  • जमीनी स्तर पर ही युवा खिलाड़ियों की पहचान करना और उन्हें प्रोस्ताहित करना
  • विश्विद्यालय और कॉलेज स्तर पर खेलो को बढ़ावा देना,
  • खेलो के बुनियादी ढ़ांचे का पुनर्निर्माण करना
  • शारीरिक गतिविधियों को स्कूलों के पाठ्यक्रम का अनिवार्य हिस्सा बनाना

सचिन के विज़न डॉक्युमेंट में बाताया गया है कि किस तरह से उभरते हुए युवा खिलाड़ियों की पहचान कर उन्हें बढ़ावा दिया जाए. किस तरह से विश्विद्यालय और कॉलेज स्तर पर खेलों को बढ़ावा दिया जाए, खेलों के बुनियादी ढ़ांचे का पुनर्निर्माण किया जाए और हर भारतीय के लिए शारीरिक गतिविधि को अनिवार्य करना क्यों जरुरी है.

खेलना अनिवार्य

कहा जा रहा है कि सचिन ने 2012 में ओलंपिक में भारत के बेहतर प्रदर्शन को देख कर ही प्रेरणा ली है.

सचिन तेंदुलकर का सुझाव है कि भारत में खेलों को बढ़ावा देने के लिए इसे अनिवार्य स्कूली पाठ्यक्रम का हिस्सा बना दिया जाए. अभी तक खेलों को अन्य गतिविधियों के रुप में पाठ्यक्रम में शामिल किया जाता है.

सामाचार ऐजेंसी पीटीआई के मुताबिक मानव संसाधन विकास मंत्री कपिल सिब्बल ने तेंदुलकर को इन सुझावों पर चर्चा के लिए बुलाया है.

इससे पहले, राज्य सभा में बतौर सांसद शपथ लेने के बाद सचिन तेंदुलकर ने कहा था कि वह राज्य सभा में चीख-चिल्ला कर अपनी बात नहीं रखेंगे और विनम्रता के साथ मुद्दों को उठाएंगे.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.