अज़हरुद्दीन पर आजीवन प्रतिबंध ग़लत: कोर्ट

 गुरुवार, 8 नवंबर, 2012 को 15:49 IST तक के समाचार

अजहरुद्दीन पर मैच फिक्सिंग का आरोप था

आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय ने मोहम्मद अज़हरुद्दीन पर लगे आजीवन प्रतिबंध को ग़लत करार दिया है.

अजहरुद्दीन ने अदालत के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि वो अब क्रिकेट तो नहीं खेल सकते लेकिन नए खिलाड़ियों के लिए काम जरूर करना चाहेंगे.

उन्होंने देरी से आए फैसले पर कहा," सब ईश्वर की इच्छा है, मैंने धैर्य से काम लिया, परिणाम सामने हैं, मैं किसी पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता. हैंसी क्रोनिए अब रहे नहीं और उन पर बात करना ठीक नहीं होगा."

हालांकि, बीसीसीआई ने इस फ़ैसले पर तत्काल कोई प्रतिक्रिया देने से बचते हुए कहा है कि अदालत का फ़ैसला देखने के बाद ही कुछ कहा जा सकेगा.

उधर, पूर्व टेस्ट खिलाड़ी मनेंदर सिंह ने बीबीसी से बातचीत में कहा कि वो आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय के इस इस निर्णय से बेहद खुश हैं.

उन्होंने कहा, “दरअसल इस तरह का निर्णय बहुत पहले आ जाना चाहिए था क्योंकि किसी भी खिलाड़ी के लिए एक सज़ा के तौर पर ये एक बहुत कड़ा निर्णय था. अब बीसीसीआई को भी चाहिए कि वो बड़ा दिल दिखाते हुए प्रतिबंध हटा ले क्योंकि अजहर अभी भी किसी ना किसी रूप में क्रिकेट की सेवा कर सकते हैं.”

" बीसीसीआई जबतक जजमेंट की कॉपी नहीं देख लेती तबतक कोई निर्णय नहीं लेगी."

राजीव शुक्ला

मनेंदर सिंह ये भी कहा, “हालांकि मुझे बीसीसीआई से कम ही उम्मीद है.”

अजहर पर आरोप

अजहरुद्दीन पर मैच फिक्सिंग का आरोप लगा था जिसके बाद बीसीसीआई ने वर्ष 2000 में उन पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया था.

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व खिलाड़ी हैंसी क्रोनिए ने मैच फिक्सिंग में अज़हरुद्दीन का नाम लिया था. हैंसी क्रोनिए ने कहा था कि बुकी से उनकी मुलाकात अजहर ने ही कराई थी.

जिसके बाद मामला देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी सीबीआई को सौंप दिया गया था.

सीबीआई के रिपोर्ट सौंपने के बाद बीसीसीआई ने अज़हरुद्दीन पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया था.

हालांकि वर्ष 2006 में बीसीसीआई ने आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान उनका सम्मान किया गया था और उन पर लगा प्रतिबंध हटा दिया था.

लेकिन आईसीसी ने इस मामले में दखल देते हुए अजहर से प्रतिबंध हटाने को गलत ट्रेंड करार दिया था.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.