पनेसर के सामने भारतीय बल्लेबाज़ हुए ढेर

Image caption पीटरसन ने अपनी पारी में 20 चौके और चार छक्के लगाए. तस्वीर पीटीआई

मुंबई टेस्ट मैच में भारतीय टीम की हालत नाज़ुक है. तीसरे दिन का खेल खत्म होने पर दूसरी पारी में भारत का स्कोर सात विकेट खोकर 117 रन है.

इंग्लैंड ने पहली पारी में भारत पर 86 रनों की बढ़त ली लेकिन जबाव में भारत के पांच विकेट सिर्फ इस बढ़त की भरपाई में गिर गए.

तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक भारत का स्कोर था सात विकेट पर

भारत की बढत सिर्फ 31 रन है और सिर्फ तीन विकेट शेष हैं. खेल के तीसरे दिन चायकाल पर इंग्लैंड की पारी 413 पर खत्म हुई.

भारत स्कोर में पीछे हो गया था लेकिन टीम की शुरुआत बेहद खराब रही और सात विकेट सस्ते में निपट गए.

मोंटी पनेसर औऱ ग्रैम स्वॉन कि फिरकी गेंदबाज़ी के सामने भारतीय बल्लेबाज़ नतमस्तक हो गए.

सहवाग नौ रन पर, पुजारा छह रन बनाकर, तेंदुलकर आठ पर, कोहली सात रन पर और युवराज महज़ आठ और धोनी छह रन बनाकर औऱ अश्विन 11 पर आउट हो गए.

पनेसर को पांच और स्वान को दो सफलताएं मिली.

सिर्फ गौतम गंभीर टिक कर खेल रहे थे 53 पर अविजित हैं.

ओझा के पांच विकेट

इससे पहले केविन पीटरसन के शानदार 186 रन और कप्तान एलिस्टेयर कुक के 122 रनों की पारी की मदद से इंग्लैंड ने भारत की पहली पारी के स्कोर को आसानी से पार किया.

भारत की तरफ से एक बार फिर प्रज्ञान ओझा ने पांच विकेट लिए.

इससे पहले भारत ने पहली पारी में 327 रन बनाए थे.

तीसरे दिन भारत को पहली सफलता एलिस्टेयर कुक के रूप में मिली. ऑफ स्पिनर रवि अश्विन की एक थोड़ी तेज़ गेंद पर कुक के बल्ले का किनारा लगा और विकेट के पीछ कप्तान धोनी ने कोई गलती नहीं की.

लेकिन आउट होने से पहले कुक ने 122 रन बनाए और चौथे विकेट के लिए पीटरसन के साथ 206 रनों की साझेदारी की.

कुक के बाद आने वाले बल्लेबाज़ बेयरस्टो ज्यादा देर टिक नहीं सके और लंच से पहले रन पर ओझा का शिकार बने.

लंच पर इंग्लैंड का स्कोर था 4 विकेट पर 298 रन.

पीटरसन छाए

लंच के बाद पीटरसन ने ओझा की गेंद पर छक्का लगाकर 150 रन पूरे किए. वो आक्रामक अंदाज़ में खेल रहे थे लेकिन दूसरे छोर से विकेट लगातार गिर रहे थे.

समित पटेल भी प्रज्ञान ओझा की गेंद पर आउट हुए लेकिन ओझा को सबसे बड़ी सफलता पीटरसन के विकेट के रूप में मिली.

पीटरसन 186 रन बनाकर ओझा की गेंद पर कीपर धोनी को कैच थमा बैठे.

हरभजन सिंह ने ब्रॉड और एंडरसन को आउट किया जबकि पनेसर का विकेट अश्विन को मिला.

इससे पहले भारत ने पहली पारी में 327 रन बनाए थे.

चार मैचों की सिरीज़ में पहला मैच भारत ने अहमदाबाद में जीता था.

संबंधित समाचार