विश्व कप की जीत से खिलाड़ी हुए लापरवाह: सनी

 शुक्रवार, 14 दिसंबर, 2012 को 23:44 IST तक के समाचार
गावसकर

गावसकर भारतीय टीम के प्रदर्शन से निराश हैं

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सुनील गावसकर इंग्लैंड के ख़िलाफ़ मौजूदा सिरीज़ में भारत के प्रदर्शन से काफ़ी निराश हैं.

उनका मानना है कि वर्ष 2011 में विश्व कप में मिली ख़िताबी जीत के बाद कुछ खिलाड़ी काफ़ी लापरवाह हो गए हैं, जो कतई स्वीकार नहीं किया जा सकता.

एक न्यूज़ चैनल से बातचीत में गावसकर ने कहा, "वर्ष 2011 के विश्व कप में मिली सफलता के बाद कुछ खिलाड़ी ज़्यादा लापरवाह हो गए हैं. वे ऐसे व्यवहार करने लगे हैं, जैसे विश्व कप जीतने के लिए देश उनका अहसानमंद है, जो स्वीकार नहीं किया जा सकता."

भारतीय टीम के कोच डंकन फ्लेचर पर भी सवाल उठ रहे हैं.

देरी

"वर्ष 2011 के विश्व कप में मिली सफलता के बाद कुछ खिलाड़ी ज़्यादा लापरवाह हो गए हैं. वे ऐसे व्यवहार करने लगे हैं, जैसे विश्व कप जीतने के लिए देश उनका अहसानमंद है, जो स्वीकार नहीं किया जा सकता"

सुनील गावसकर

गावसकर कहते हैं, "मैं धोनी की बातों का समर्थन करता हूँ, जब वे ये कहते हैं कि कोच मैदान पर जाकर रन नहीं बना सकता. लेकिन मैं ज़रूर इस पर ध्यान देना चाहूँगा कि उनका रुख़ कैसा है, क्या वो निष्प्रभावी है. इंग्लिश प्रीमियर लीग फ़ुटबॉल या फिर स्पैनिश फ़ुटबॉल लीग ला लीगा में जब टीम लगातार हारती है, तो कोच पर गाज गिरती है."

उन्होंने इस बात से सहमति जताई कि नागपुर टेस्ट के दौरान कप्तान महेंद्र सिंह धोनी काफ़ी सक्रिय दिख रहे हैं, लेकिन उनका ये भी मानना है कि इस सिरीज़ में अब काफ़ी देरी हो चुकी है.

गावसकर ने यह भी स्वीकार किया कि सचिन तेंदुलकर और वीरेंदर सहवाग जैसे खिलाड़ियों के लगातार नाकाम करने के कारण भारतीय टीम बड़ा स्कोर खड़ा नहीं कर पा रही है.

इंग्लैंड के खिलाड़ियों की तारीफ़ करते हुए गावसकर ने कहा कि इंग्लैंड के खिलाड़ी अच्छी साझेदारी कर रहे हैं, जबकि भारतीय खिलाड़ी इसमें सफल नहीं हो पा रहे हैं.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.