मोहाली में भारत ने सिरीज़ अपने नाम की

 बुधवार, 23 जनवरी, 2013 को 20:08 IST तक के समाचार
सुरेश रैना

रैना ने बेहतरीन पारी खेलकर भारत की जीत सुनिश्चित की

भारत ने इंग्लैंड को पाँच वनडे मैचों की सिरीज़ के चौथे मैच में पाँच विकेट से हराकर शृंखला पर क़ब्ज़ा कर लिया है.

भारत ने टॉस जीतने के बाद इंग्लैंड को पहले बल्लेबाज़ी करने के लिए कहा था और इंग्लैंड ने सात विकेट के नुक़सान पर 257 रन बनाए थे.

जवाब में भारत ने 15 गेंदें बाक़ी रहते हुए लक्ष्य हासिल कर लिया. इस तरह भारत को अब सिरीज़ में 3-1 की अजेय बढ़त मिल गई है.

इंग्लैंड ने क्लिक करें राजकोट वनडे जीता था जबकि भारत ने क्लिक करें कोच्चि, क्लिक करें राँची और मोहाली में जीत दर्ज की.

क्लिक करें देखिए मैच का स्कोर कार्ड

सलामी बल्लेबाज़ भारत के लिए अब भी परेशानी का सबब बनी हुई है. भारत ने अजिंक्य रहाणे की जगह रोहित शर्मा को ओपनिंग के लिए भेजा.

मगर गंभीर 10 रन बनाकर आउट हो गए. इस तरह सलामी जोड़ी से मज़बूत शुरुआत की उम्मीद एक बार फिर पूरी नहीं हुई.

कोहली भी ज़्यादा नहीं चले और 26 रन बनाकर ट्रेडवेल की गेंद पर उन्हें ही कैच थमा बैठे.

रोहित और सुरेश रैना

क्लिक करें युवराज सिंह से उनके घरेलू दर्शकों को बड़े स्कोर की उम्मीद थी मगर युवराज भी ट्रेडवेल का ही शिकार हुए. उन्होंने तीन रन बनाए.

वैसे रोहित शर्मा एक छोर पर टिके रहे और उन्होंने 93 गेंदों में 83 रन बनाए. मगर इससे पहले कि वे शतक के नज़दीक़ पहुँचे स्टीवन फ़िन ने उन्हें एलबीडब्ल्यू आउट कर दिया.

कप्तान धोनी ने 19 रन बनाए और विकेट के पीछे मॉर्गन ने उनका कैच डर्नबाख़ की गेंद पर लिया.

भारत को जीत दिलाई सुरेश रैना और रविंदर जडेजा ने. रैना ने 79 गेंदों पर तेज़ी से 89 रन बनाए. इसमें नौ चौके और एक छक्का शामिल था.

एलेस्टर कुक

कुक ने बेहतरीन 76 रनों की पारी खेली

जडेजा 19 रनों पर नॉट आउट रहे.

इंग्लैंड की पारी

इससे पहले इंग्लैंड की ओर से कप्तान एलेस्टर कुक और केविन पीटरसन ने 76-76 रनों की पारी खेलकर इंग्लैंड को सम्मानजनक स्कोर तक पहुँचाने में मदद की.

इंग्लैंड ने अगर अंतिम 10 ओवरों में 101 रन न जोड़े होते तो उनके लिए हालात और मुश्किल हो सकते थे.

इसमें अहम भूमिका रही जो रूट की. रूट ने एक बार फिर बेहतरीन प्रदर्शन जारी रखा और उन्होंने सिर्फ़ 45 गेंदों में 57 रन बनाए.

इंग्लैंड की पारी की शुरुआत में माना जा रहा था कि भारतीय गेंदबाज़ों को मदद मिल सकती है और हुआ भी कुछ ऐसा ही जबकि भुवनेश्वर कुमार और शमी अहमद की गेंदों ने इंग्लैंड के सलामी बल्लेबाज़ों को परेशान किया.

इंग्लैंड ने पहले पाँच ओवरों में सिर्फ़ 12 रन बनाए थ. इसके बाद इयन बेल का विकेट गिरा जबकि उन्हें 10 रनों के निजी स्कोर पर इशांत शर्मा ने आउट किया.

रूट ने जीता दिल

इसके बाद कुक और पीटरसन के बीच 95 रनों की साझेदारी हुई और 132 के टीम के स्कोर पर कप्तान कुक अश्विन की गेंद पर एलबीडब्ल्यू हुए.

फिर इंग्लैंड ने इयन मॉर्गन और समित पटेल के विकेट जल्दी गँवा दिए. मॉर्गन सिर्फ़ तीन रन बना पाए और पटेल एक.

पीटरसन पाँचवें विकेट के रूप में इशांत शर्मा की गेंद पर बोल्ड हो गए. मगर इंग्लैंड की पारी के अंत में जो रूट ने दर्शकों का दिल जीत लिया.

उनका एक कैच 42 रनों के निजी स्कोर पर सुरेश रैना से छूट गया मगर उसके बाद भी रूट का प्रदर्शन जारी रहा और उन्होंने टीम को 257 रनों के स्कोर तक पहुँचाया.

भारत ने 2008 और 2011 में हुई वनडे सिरीज़ में सभी पाँच वनडे मैच जीत लिए थे.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.