इंग्लैंड की जीत, सिरीज 3-2 से भारत के नाम

 रविवार, 27 जनवरी, 2013 को 18:31 IST तक के समाचार
बेल

बेल ने अंतिम वनडे में दमदार प्रदर्शन किया.

भारत के 227 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए इंग्लैंड ने धर्मशाला में खेला गया आखिरी वनडे सात विकेट से जीत लिया है. इंग्लैंड की और से इयान बेल ने 113 रन की नाबाद पारी खेली हालांकि भारत पहले ही पांच वनडे मैचों की श्रृंखला 3-2 से जीत चुका है.

बेल को उनके आतिशी शतक के लिए 'मैन ऑफ द मैच' और सुरेश रैना को पूरी ऋंखला में उनके बेहतरीन प्रदर्शन के लिए 'मैन ऑफ द सिरीज' चुना गया.

इससे पहले लड़खड़ाती भारतीय पारी को संभालनेवाले सुरेश रैना के शानदार 83 रन की बदौलत भारत ने इंग्लैड के सामने जीत के लिए 227 रनों का लक्ष्य रखा था जिसे इंग्लैंड ने तीन विकेट के नुकसान पर हासिल कर लिया.

भारत पर सात विकेट से मिली इस जीत में बेल के अलावा सलामी बल्लेबाज कुक ने 22 और जे ई रूट ने 31 रन का योगदान दिया.

लक्ष्य का पीछा करती हुई इंग्लैंड की टीम संभल कर खेली और पूरे मैच पर उसने अपनी पकड़ बरकरार रखी.

भारतीय की ओर से शमी अहमद, रविंद्र जाडेजा और ईशांत शर्मा ने अच्छी गेंदबाज़ी की लेकिन इंग्लैंड के बल्लेबाज़ों को आउट करने में उन्हें कामयाबी नहीं मिली. तीनों ने इंग्लैंड के एक-एक खिलाड़ियों को पैविलियन भेजा.

भारत का प्रदर्शन

लड़खड़ाती भारतीय टीम को सुरेश रैना की आतिशी पारी से मिले सहारे के बाद भारत ने धर्मशाला वनडे मैच में इंग्लैंड के सामने 227 रनों का लक्ष्य रखा. रैना 83 रन बनाकर आउट हुए.

सुरेश रैना

रैना का अच्छा प्रदर्शन टीम को धर्मशाला में विजय न दिला सका.

इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले भारत से बल्लेबाज़ी करने के लिए कहा. पूरी भारतीय टीम 49.4 ओवरों में 226 रनों पर आउट हो गई.

भारतीय पारी की शुरुआत बेहद खराब रही. चौथे ही ओवर में रोहित शर्मा चार रन बनाकर आउट हो गए. अगली ही गेंद पर विराट कोहली भी पवेलियन लौट गए और वो भी बिना खाता खोले.

युवराज भी विराट के पीछे पीछे शून्य पर चलते बने. सलामी बल्लेबाज़ गौतम गंभीर मैदान पर रुके ज़रुर लेकिन अपना सफर 24 रन से आगे नहीं बढ़ा सके.

मध्यक्रम ने संभाला

कप्तानी धोनी भी 15 रनों के योगदान के बाद पगबाधा करार दे दिए गए. उस समय भारत की पारी लड़खड़ाती नज़र आ रही थी.

लेकिन ऐसे समय में मध्यक्रम में अपनी जिम्मेदारी को बखूबी निभाते हुए रविंद्र जाडेजा ने रैना के साथ 78 रनों की साझेदारी की. जाडेजा 39 रनों पर ट्रेडवेल की गेंद पर बेल के हाथों लपक लिए गए. रैना ने 98 गेंदों पर 83 रन बनाए जिसमें आठ चौके और दो छक्के शामिल रहे.

रैना की पारी की बदौलत भारत 226 रनों का स्कोर खड़ा कर पाया.

इंग्लैंड की तरफ से टीटी ब्रेस्नन ने तीन विकेट लिए जबकि स्टीवन फिन और जेसी ट्रेडवेल ने भारत के दो-दो विकेट चटकाए. वोक्स रैना का महत्वपूर्ण विकेट लेने में कामयाब हुए.

भारत और इंग्लैंड के बीच वनडे सिरीज़ का ये अंतिम मैच था. ये पहली बार है जब धर्मशाला में कोई अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच खेला गया.

इससे पहले इंग्लैंड ने राजकोट वनडे जीता था जबकि भारत ने कोच्चि, राँची और मोहाली में जीत दर्ज की थी.

वनडे सिरीज़ में अच्छे प्रदर्शन की बदौलत भारत वनडे रैंकिंग में नंबर एक पर पहुँच गया है.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.