सहवाग का जादू चलेगा क्या?

  • 5 फरवरी 2013
Image caption ईरानी ट्रॉफी वानखेड़े स्टेडियम में रणजी ट्रॉफी चैम्पियन मेंज़बान मुंबई और शेष भारत के बीच होगी.

भारत की सबसे बड़ी घरेलू क्रिकेट प्रतियोगिता रणजी ट्रॉफी के बाद अब ईरानी ट्रॉफी पर सबकी नज़रें लग गई हैं.

ईरानी ट्रॉफी बुधवार से मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में रणजी ट्रॉफी चैंपियन मेंज़बान मुंबई और शेष भारत के बीच होगी.

मुंबई की कमान ऑलराउंडर अभिषेक नायर संभालेंगे, जबकि शेष भारत की कप्तानी का भार वीरेंद्र सहवाग उठाऐंगे.

क्योंकि अभी तक कप्तानी का भार संभालते हुए ऑल राउंडर अजित अगरकर ग्रॉइन इंजरी के कारण यह मैच नहीं खेल पाएंगे. मुंबई ने अगरकर की कप्तानी में रणजी ट्रॉफी के फाइनल में सौराष्ट्र को हराया था और 40वीं बार चैंपियन बनने का गौरव भी हासिल किया.

इस बार ईरानी ट्रॉफी का महत्व इसलिए है क्योंकि 22 फरवरी से ऑस्ट्रेलिया का भारत दौरा शुरू हो रहा है, जिसमें ऑस्ट्रेलियाई टीम भारत में चार टेस्ट मैच खेलेगी.

क्यों है महत्वपूर्ण?

पिछले दिनों इंग्लैंड से टेस्ट सीरीज़ 2-1 से हारने के बाद भारतीय टीम से कई खिलाड़ियों की छुट्टी हो सकती है. कुछ खिलाड़ी चोटिल है, जिनमें अनुभवी तेज़ गेंदबाज़ ज़हीर खान भी शामिल है.

ऐसे में ईरानी ट्रॉफी के बाद जब ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ भारतीय टीम का चयन होगा तो चयनकर्ताओ की नज़र में इस मैच में किए गए प्रदर्शन का महत्व भी होगा.

ईरानी ट्रॉफी की तैयारी को लेकर मुंबई के अगरकर कहते है, "अभी ज़्यादा समय नही मिल पाया, क्योंकि रणजी फाइनल जीते हुए चार-पांच दिन ही हुए है. थोडा आराम मिलना अच्छी बात है. हम जानते है कि हमारे ख़िलाफ देश के सर्वश्रेष्ट खिलाड़ी है, लेकिन हमारे लिए भी अच्छी बात यह है कि हमारी टीम में अजिंक्य रहाणे और रोहित शर्मा की वापसी हो रही है."

टीम में दुनिया के सबसे बेहतरीन बल्लेबाज़ो में से एक सचिन तेंदुलकर की मौजूदगी को लेकर अगरकर कहते है,"पिछले तीन चार साल से सचिन रणजी नही खेले थे, हमारे लिए उनका आना बड़ा अच्छा रहा क्योंकि वह नॉकआउट मैचो में आए."

कप्तानी का दबाव

कप्तानी के भार के बारे में अगरकर कहते है, " दरअसल हमारी टीम में चार या पॉच बेहद अनुभवी खिलाड़ीं हैं, जो सारा भार अपने कंधो पर उठा लेते है.

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ इस मैच को चयन का आधार मानने की बात पर अगरकर कहते है कि यह तो हर खिलाड़ी का सपना होता है. यकीनन इससे मैच में रोमांच बढ़ेगा.

इसी मैच को लेकर सलामी बल्लेबाज़ शिखर धवन बेहद उत्साहित है, जो शेष भारत के लिए खेलेंगे.

शिखर कहते हैं,"मैने पुरानी ग़लतियो से सबक सीखा है और मै इस अवसर का पूरा फायदा उठाने की कोशिश करूंगा."

शिखर धवन ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ 16 से 18 फरवरी तक होने वाले अभ्यास मैच में भारत ए की कप्तानी भी करेंगे."

ईरानी टॉफी में शेष भारत के लिए खेल रहे हरभजन सिंह, एस श्रीसंत, शमी अहमद और मुंबई के आजि़क्य रहाणे और रोहित शर्मा पर चयनकर्ताओ की विशेष नज़र रहेगी.

पूर्व टेस्ट खिलाडी मनिंदर सिंह कहते है कि चाहे शेष भारत की टीम हो या ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अभ्यास मैच खेलने वाली टीम हो, चयनकर्ताओ ने सही टीम चुनी है. इसमें हर वह युवा खिलाड़ी है जो भारत का भविष्य है. इसके लिए चयनकर्ता बधाई के पात्र हैं.

संबंधित समाचार