वापसी पर लंबी उड़ान भरेंगे गंभीर: कोच

गौतम गंभीर
Image caption गंभीर के कोच का कहना है कि वो उनकी तकनीक को सुधार रहे हैं

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के खिलाफ अभ्यास मैच में गौतम गंभीर ने 112 रनों की पारी के साथ फॉर्म में शानदार वापसी की है.

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 22 फरवरी से चार टेस्ट मैचों की सिरीज शुरू हो रही है और पहले दो मैचों के लिए गंभीर को टीम में नहीं रखा गया है.

लेकिन अभ्यास मैच में उनकी दमदार पारी के बाद गंभीर के कोच संजय भारद्वाज ने उन्हें लंबी रेस का घोड़ा कहा है.

चेन्नई में खेले जा रहे अभ्यास मैच में गौतम गंभीर के अलावा खराब फॉर्म से जूझ रहे रोहित शर्मा भी 77 रन बना कर अपना खोया आत्मविश्वास पाने कामयाब रहे.

अभ्यास मैच के पहले दिन शनिवार को जब खेल समाप्त हुआ तो भारत ए का स्कोर चार विकेट पर 338 रन था. इनमें मनोज तिवारी के 77 रन भी शामिल हैं और वो क्रीज पर जमे हुए हैं.

मेहनती गंभीर

संजय भारद्वाज ने बीबीसी से बातचीत में कहा, “गौतम बहुत ही मेहनती हैं. वो कभी किसी मैच को छोटा नहीं समझते हैं. जो मेहनती होता है, उसके लिए हर मैच बड़ा मैच होता है.”

गंभीर पिछले दो वर्षों से कोई भी शतक नहीं बना सके हैं जिसे भारतीय टीम से उनके बाहर होने की एक बड़ी वजह माना जा रहा है.

उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में पिछला शतक चटगांव में जनवरी 2010 में बांग्लादेश के खिलाफ लगाया था. यानी पिछले 26 मैचों में उनके बल्ले से कोई शतक नहीं निकला है.

भारद्वाज कहते हैं, “गौतम को जो बाहर किया है, तो कोई बात नहीं, क्योंकि जब वो वापसी करेंगे तो बहुत लंबा जाएंगे. किसी भी लंबी छलांग के लिए आपको दो कदम पीछे लेने पड़ते हैं. तो जब वो वापस आएंगे, तो ये उनकी लंबी उड़ान होगी.”

दरअसल गौतम गंभीर कुछ समय से लगातार ऑफ स्टंप से बाहर जाती गेंदों से छेड़छाड़ करते हुए अपना विकेट गंवा रहे थे. इसे सुधारने के लिए भारद्वाज ने मेहनत की है और अपनी क्रिकेट अकादमी के युवा तेज गेंदबाजों का सहयोग भी लिया.

अगर तकनीकी रूप से क्रिकेट की भाषा में कहा जाए तो भारद्वाज ने गौतम गंभीर को ‘वी’ में और सीधे बल्ले से खेलने की सलाह दी जो बल्लेबाजी का सबसे महत्वपूर्ण बिंदु है. इसी के साथ उन्होंने गौतम गंभीर के फुटवर्क को भी सुधारा.

संबंधित समाचार