'भारत की शानदार जीत लेकिन सचिन ने किया मायूस'

dhoni
Image caption टीम इंडिया की असली परीक्षा दक्षिण अफ्रीका दौरे पर होगी

ऑस्ट्रेलिया पर भारत की शानदार जीत का विश्लेषण करने के लिए बीबीसी ने वरिष्ठ खेल पत्रकार प्रदीप मैगजीन से बात की.

प्रदीप मैगजीन का कहना है कि भारत ने भले ही ऑस्ट्रेलिया को अपनी जमीन पर 4-0 से हराकर ऐतिहासिक जीत हासिल की है लेकिन टीम इंडिया की असली परीक्षा दक्षिण अफ्रीका दौरे पर होगी.

मैच के स्कोरकार्ड के लिए क्लिक करें

मैगजीन ने कहा कि हर मेजबान टीम अपने मनमाफिक पिच तैयार करती हैं ताकि वो घरेलू परिस्थितियों का पूरा फायदा उठा सके और भारत भी कोई अपवाद नहीं है.

उन्होंने साथ ही आगाह किया कि ये क्रिकेट से व्यापक हित के लिए अच्छा नहीं है. ऐसे में हर टीम अपने घर में तो शेर रहेगी लेकिन विदेशी पिचों पर उन्हें शिकस्त खानी पड़ेगी.

भारतीय टीम को अब दक्षिण अफ्रीका दौरे पर जाना है. मैगजीन का कहना है कि चेतेश्वर पुजारा और विराट कोहली के अलावा कोई अन्य भारतीय बल्लेबाज़ तकनीकी रूप से इतना सक्षम नहीं है कि दक्षिण अफ्रीका के तेज़ गेंदबाज़ों का अधिक देर तक मुकाबला कर सके.

कमजोर टीम

भारत के ख़िलाफ 0-4 की शिकस्त झेलने वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम के बारे में कहा कि ये टीम हाल के वर्षों में भारत आने वाली सबसे कमजोर टीम है.

उन्होंने कहा, " ऑस्ट्रेलिया के पास न तो कोई विश्वस्तरीय स्पिनर था और न ही कोई भरोसेमंद बल्लेबाज. अगर उसके पास इंग्लैंड जैसे स्पिनर और केविन पीटरसन और एलिस्टेर कुक जैसे बल्लेबाज होते तो सिरीज का परिणाम कुछ और होता."

ऑस्ट्रेलिया टीम में उठे विवादों के बारे में मैगजीन ने कहा कि जब कोई टीम हारती है तो ऐसे विवादों को तूल मिलता है.

वो कहते हैं, "आप शेन वाटसन और जेम्स पैटिनसन जैसे खिलाड़ियों के खिलाफ कड़ी अनुशासनात्मक कार्रवाई के लिए ऑस्ट्रेलिया की आलोचना भी कर सकते हैं और तारीफ भी कर सकते हैं."

सिरीज में उम्मीदों के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पाए सचिन तेंदुलकर के संन्यास के बारे में मैगजीन ने कहा कि सचिन से क्रिकेट प्रशंसकों को बहुत उम्मीद रहती है लेकिन वो दिल्ली टेस्ट की दोनों पारियों में जिस तरह आउट हुए उससे उन्हें आत्ममंथन की जरूरत है.

संबंधित समाचार