फ़िक्सिंग: अंपायर को हुई थी लाखों रुपए की 'पेशकश'

  • 27 मई 2013
जॉन होल्डर
Image caption जॉन होल्डर का दावा है कि उन्हें वनडे मैच को प्रभावित करने के लिए पैसे की पेशकश की गई थी.

पूर्व टेस्ट अंपायर जॉन होल्डर ने बीबीसी को बताया है कि उन्हें एक अंतरराष्ट्रीय मैच का नतीजा प्रभावित करने के लिए पैसे देने की पेशकश की गई थी.

होल्डर का कहना है कि ये पेशकश 1993 में शारजाह में पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच हुए एक दिवसीय मैच के दौरान की गई थी.

पढ़ें - क्या है स्पॉट फ़िक्सिंग

लेकिन 11 टेस्ट मैचों में अंपायरिंग कर चुके जॉन होल्डर ने 10 हज़ार पाउंड यानी आठ लाख 40 हज़ार रुपए का प्रलोभन ठुकरा दिया था.

68 वर्षीय होल्डर ने बीबीसी के कार्यक्रम टेस्ट मैच स्पेशल के दौरान बताया, “उन्होंने कहा कि अगर में श्रीलंका के खिलाड़ियों को 85 रन की साझेदारी बनाने देता हूं तो वे मुझे दस हज़ार पाउंड देंगे. मैंने उनसे कहा कि वे ग़लत आदमी से बात कर रहे हैं.”

अंपायर जॉन होल्डर का ये दावा ऐसे वक्त में आया है जब भारत में इंडियन प्रीमियर लीग स्पॉट फ़िक्सिंग के घेरे में है.

पिछले सप्ताह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल ने पाकिस्तानी अंपायर असद रऊफ़ को आईसीसी चैपिंयस ट्रॉफ़ी से हटा लिया था.

असद रउफ़ आईपीएल के उस मैच में अंपायर थे जिसकी वजह से एस श्रीसंत, अजीत चांडीला और अंकीत चव्हाण को स्पॉट फ़िक्सिंग के आरोप में गिरफ़्तार किया गया था.

शारजाह में की थी पेशकश

टेस्ट मैच स्पेशल के दौरान बीबीसी के क्रिकेट संवाददाता जोनाथन एग्नयू ने जॉन होल्डर से पूछा कि क्या उन्हें कभी खेल की परिणाम प्रभावित करने के लिए पैसे की पेशकश की गई है.

उनका जवाब था, “साल 1993 में मैं श्रीलंका वेस्ट इंडीज़ और पाकिस्तान की एक दिवसीय श्रृंखला के लिए शारजाह में था. वहां मुझे एक व्यक्ति से मिलवाया गया जिसने श्रीलंका के बल्लेबाज़ों को 85 रन की साझेदारी करने देने की एवज़ में दस हज़ार पाउंड की पेशकश की. उस व्यक्ति ने कहा कि उनका गुट मैचों में सट्टा खेलकर पैसे कमाता है.”

जॉन होल्डर ने कहते हैं कि ऐसे गोरखधंधे में फंसने वाले अंपायरों और खिलाड़ियों को समझना चाहिए कि आसान पैसा उन्हें गंभीर मुसीबत में डाल सकता है.

होल्डर ने कहा, “ एक बार आप ऐसे जंजाल में उलझे तो आपका करियर तबाह हो जाएगा. आप का आत्म सम्मान लूट जाएगा. ”

साल 1988 में जॉन होल्डर ने इंग्लैंड और श्रीलंका के बीच हुए टेस्ट मैच में पहली बार अंपायरिंग की थी. उन्होंने अपने करियर में 11 टेस्ट और 19 एक दिवसीय मैचों में अंपायरिंग की है.

(बीबीसी हिन्दी की एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार