यूसैन बोल्ट की बादशाहत कायम, जीता विश्व खिताब

यूसैन बोल्ट

100 मीटर फर्राटा दौड़ के ओलंपिक चैंपियन जमैका के यूसैन बोल्ट ने मॉस्को में चल रही विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप का खिताब जीत लिया. इस जीत के साथ ही बोल्ट ने एक बार फिर साबित कर दिया कि 100 मीटर फर्राटा दौड़ में उनके मुकाबले में कोई नहीं है.

साल 2011 में दाएगु में बोल्ट गलत शुरुआत के कारण अयोग्य करार दिए गए थे और तब उनके हमवतन योहान ब्लैक ने सोना जीता था. लेकिन इस बार बोल्ट ने कोई गलती नहीं की और 2009 का इतिहास दोहराते हुए दूसरी बार इस चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक हासिल किया.

इस बार बोल्ट के प्रमुख प्रतिद्वंद्वी अमरीका के जस्टिन गैटलिन थे. फ़ाइनल रेस में गैटलिन ने बोल्ट को कड़ी चुनौती दी और आधे समय तक वो आगे भी रहे. लेकिन हमेशा की तरह फ़िनिशिंग लाइन के करीब पहुंचने से पहले बोल्ट ने तेज़ रफ्तार भरी और गैटलिन को पछाड़कर चैंपियन बन गए.

बीजिंग ओलंपिक और लंदन ओलंपिक के चैंपियन बोल्ट ने इस दौड़ को पूरा करने में महज़ 9.77 सेकंड का समय लिया जो इस सत्र में उनका सर्वश्रेष्ठ समय है. गैटलिन ने 9.85 सेकंड का समय निकाला और उनका बोल्ट को पछाड़ने का सपना अधूरा रह गया.

जमैका के ही नेस्टा कार्टर ने 9.95 सेकंड का समय लेते हुए तीसरा स्थान हासिल किया.

दिलचस्प बात यह है कि प्रतियोगिता में शीर्ष पांच एथलीटों में चार जमैका के ही रहे. चौथे स्थान पर जमैका के केमर बैले कोले और पांचवें स्थान पर निकेल शमेदे रहे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार