इंडियन बैडमिंटन का आगाज़, सितारों पर नज़र

  • 14 अगस्त 2013
भारत में बैडिमंटन लीग की तैयारियां पूरी

बुधवार से शुरू हो रही इंडियन बैडमिंटन लीग के बारे में यह कहना अभी मुश्किल है कि यह कितनी कामयाब होगी, लेकिन पूर्व खिलाड़ी मानते हैं कि एकदम सही समय पर इसकी शुरुआत हो रही है.

खासकर विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप में भारतीय खिलाड़ियों के बढ़िया प्रदर्शन के बाद इस टूर्नामेंट को लेकर लोगों की दिलचस्पी बढ़ गई है.

विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप में भारत की पीवी सिंधू ने कांस्य पदक जीता है जबकि साइना नेहवाल और पी कश्यप क्वॉर्टर फाइनल तक पहुंचे है.

ऐसे में भारत के पूर्व बैडमिंटन खिलाड़ी और एशिया कप चैंपियन रह चुके दिनेश खन्ना मानते हैं कि ये टूर्नामेंट सही समय पर हो रहा है.

भारत में क्रिकेट की आईपीएल और हॉकी की हॉकी इंडिया लीग की तर्ज पर पहली इंडियन बैडमिंटन लीग का पहला मैच दिल्ली में खेला जाएगा.

'बढ़ेगी बैडमिंटन की लोकप्रियता'

इस लीग में कुल छह टीमें शामिल है जिनमें देसी-विदेशी खिलाड़ी शामिल है.

'बंगा बीट्स' में पी कश्यप, 'हैदराबाद हॉटशॉटस' में साइना नेहवाल, 'दिल्ली स्मैशर्स' में ज्वाला गुट्टा, 'लखनऊ वारियर्स' में पीवी सिंधू, 'मुंबई मास्टर्स' में मलेशिया के ली चोंग वेई और 'पुणे पिस्टन' में अश्विनी पोन्नप्पा स्टार खिलाड़ी के रूप में अपनी चुनौती पेश करेंगे.

दस लाख अमरीकी डॉलर की इनामी राशि वाली इस लीग के शुरू होने से पहले मंगलवार को दिल्ली के एक पांच सितारा होटल में ये सभी खिलाड़ी मौजूद थे.

इस मौके पर ज्वाला गुट्टा ने कहा, "हम सभी चारों तरफ से मिल रहे सहयोग से बेहद उत्साहित है और बेसब्री से इसके शुरू होने का इंतज़ार कर रहे है और ये इंतजार अब बस समाप्त होने वाला है."

वहीं साइना नेहवाल ने कहा कि यह वाकई एक बहुत अच्छी खबर है.

वो कहती हैं, "यह इस साल का सबसे बड़ी पुरस्कार राशि वाला टूर्नामेंट भी है. मुझे खुशी है कि दुनिया भर के सभी टॉप खिलाड़ी इसमें खेल रहे है. इससे पता चलता है कि भारत बैडमिंटन में सबसे ज़्यादा उभरता हुआ देश है और लीग के माध्यम में भारत में इस खेल की लोकप्रियता और भी बढ़ती जाएगी."

वहीं पिछले दिनों विश्व बैडमिंटन चैपियनशिप में कांस्य पदक जीतकर रातों-रात स्टार बनने वाली पीवी सिंधू कहती है कि साइना नेहवाल एक महान खिलाड़ी है और उनके ख़िलाफ खेलकर जीतने की कोशिश करना उनका मुख्य उद्देश्य है.

पी कश्यप भी इस लीग को लेकर कहते है कि अभी तो शुरूआत है और इस लीग की पुरस्कार राशि युवा खिलाड़ियो को बैडमिंटन में आने के लिए प्रेरित करेगी.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

संबंधित समाचार