खराब प्रदर्शन के बावजूद बोल्ट ने जीता स्वर्ण

  • 18 अगस्त 2013
यूसैन बोल्ट

रूस की राजधानी मॉस्को में चल रही विश्व चैम्पियनशिप में ओलंपिक चैम्पियन यूसैन बोल्ट ने 200 मीटर दौड़ में स्वर्ण पदक जीतकर इस टूर्नामेंट का अपना सातवां स्वर्ण पदक जीत लिया है.

जमैका के इस एथलीट ने 19.66 सेकंड में 200 मीटर की दूरी तयकर लगातार तीसरी बार इस खिताब पर कब्ज़ा किया.

इस मुकाबले में वारेन वेयर ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 19.79 सेकंड का समय लिया और रजत पदक जीता.

अमरीका के कर्टिस मिशेल ने 20.04 सेकंड का समय लेते हुए कांस्य पदक जीता.

खराब रहा प्रदर्शन

हालांकि बोल्ट ने इस बार अपने ही विश्व रिकॉर्ड से ज़्यादा समय लिया. बर्लिन में उन्होंने इस दूरी को 19.19 सेकंड में तयकर विश्व रिकॉर्ड बनाया था.

इस मुकाबले में स्वर्ण पदक जीतने के बावजूद रफ्तार के मामले में बोल्ट का प्रदर्शन बेहद खराब रहा.

उन्होंने अब तक 200 मीटर के जिन मुकाबलों में स्वर्ण पदक जीता है उन मुकाबलों में बोल्ट की रफ्तार इस बार के प्रदर्शन से बेहतर रही है.

वैसे प्रतिद्वंद्वी टायसन गे के मुकाबले में शामिल न होने और योहान ब्लेक के ज़ख़्मी होने की वजह से बोल्ट को खिताब बचाने के लिए सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की जरूरत नहीं थी.

इतिहास बनाने का मौका

यूसैन बोल्ट रविवार को होने वाली 4 गुना 100 मीटर रिले दौड़ के फाइनल में जीत हासिल कर लेते हैं तो वे विश्व चैम्पियनशिप में सबसे ज़्यादा स्वर्ण पदक जीतने वाले अमरीकियों में शामिल हो जाएंगे.

अब तक कार्ल लेविस, मिशेल जॉनसन और एलीसन फेलिक्स ने आठ-आठ स्वर्ण पदक जीते हैं.

उन्होंने दो सिल्वर मेडल भी जीते हैं और इसका मतलब होगा कि वो कुल 10 पदक जीतने वाले लेविस और फेलिक्स की बराबरी पर आ जाएंगे.

बुधवार को बोल्ट का 27वां जन्मदिन है और इस जन्मदिन पर वो ख़ुद को ये बेहतरीन तोहफा ज़रूर देना चाहेंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार