आईबीएल फाइनलः साइना और सिंधू की टीमें आमने सामने

  • 31 अगस्त 2013
ज्वाला गुट्टा, साइना नेहवाल, बैडमिंटन

इंडियन बैडमिंटन लीग का फाइनल शनिवार को हैदराबाद हॉटशाटस और अवध वॉरियर्स के बीच खेला जा रहा है.

हैदराबाद की टीम बुधवार को ही 'पुणे पिस्टंस' को हराकर फाइनल में पहुंच चुकी थी जबकि अवध वॉरियर्स ने गुरुवार को मुंबई मास्टर्स को 3-2 से हराकर दमदार खेल दिखाया था.

इंडियन बैडमिंटन लीग

अवध वॉरियर्स की जीत में उसकी आइकन खिलाड़ी पीवी सिंधु ने अपनी टीम को तब बराबरी दिलाई जब वे मुंबई मास्टर्स से पहला मैच हारकर पिछड़ रही थीं.

पीवी सिंधु ने मुंबई की टाइनी बोन को 21-16 और 21-13 से हराया. इससे पहले भी जब सिंधु का सामना टाइनी बोन से हुआ था तब भी बाज़ी सिंधु के हाथ ही लगी थी.

मुंबई मास्टर्स को पहले मैच में उसके आइकन खिलाड़ी और दुनिया के नम्बर एक मलेशिया के ली चोंग वेई ने अवध वॉरियर्स के गुरू साई दत्त को 21-15 और 21-7 से आसानी से हराया.

पदक

इसके अलावा मुंबई मास्टर्स के व्लादीमिर इवानोव ने के श्रीकांत को हराया.

पीवी सिंधु के अलावा अवध वॉरियर्स के लिए पुरूष युगल में मारकिस किडो और मैथायस बोए ने और मिश्रित युगल में मारकिस किडो और पिया बर्नाडैट ने जीत हासिल की.

सिंधु ने हार नहीं मानी

फाइनल में हैदराबाद की साइना नेहवाल उसकी सबसे बड़ी ताक़त हैं. साइना ने अभी तक अपने सभी मैच जीते हैं और उनकी फिटनेस पर कोई सवाल नही है.

उन्होंने अपने पहले मैच में पीवी सिंधु को तब हराया था जब सभी का अनुमान था कि वह साइना नेहवाल पर भारी पड़ सकती हैं.

इससे पहले साइना नेहवाल विश्व बैडमिंटन चैम्पियनशिप के क्वॉर्टर फाइनल में हार गई थी जबकि पीवी सिंधु कांस्य पदक जीतने में कामयाब रही थी.

संघर्ष

पीवी सिंधु ने इंडियन बैडमिंटन लीग के आखिरी दौर में आखिरकार अपनी लय हासिल कर ली और उसके बाद पीछे मुड़कर नही देखा.

फाइनल में जाने की जंग

पीवी सिंधु ने इससे पहले दिल्ली में हुए मुक़ाबले में जब साइना नेहवाल का सामना किया था तो वह दोनों खिलाड़ियों के बीच हुआ पहला मैच था.

जैसे ही दोनों खिलाड़ी बैडमिंटन कोर्ट पर उतरीं, दर्शको की भारी भीड़ ने ज़बरदस्त शोर और तालियां बजाकर उनका स्वागत किया.

इसके बाद मैच शुरू होते ही सिंधु ने शुरुआती बढ़त लेकर साइना पर दबाव बना लिया.

आकर्षण का केंद्र

साइना नेहवाल एक बार तो बहुत परेशान दिखीं लेकिन जैसे ही सिंधु कुछ रक्षात्मक हुईं, साइना ने उसके बाद उन्हें जमने का अवसर ही नहीं दिया.

इस जीत से साइना ने अपना खोया हुआ आत्मविशवास भी पा लिया और अभी तक वह इस लीग में वे अजेय रही हैं.

ज्वाला और साइना

अब फाइनल में अवध और हैदराबाद में मुंबई के दर्शकों के सामने ख़िताब की जंग हो रही है तो हैदराबाद को अवध की पुरुष युगल जोड़ी से बचकर रहना होगा.

लेकिन सबके आकर्षण का केंद्र तो यकीनन साइना नेहवाल और पीवी सिंधु के बीच हो रहा मैच है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार