ललित मोदी पर लगेगा आजीवन प्रतिबंध?

दिल्ली हाई कोर्ट से भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को विशेष आम सभा की बैठक (एजीएम) बुलाने की अनुमति देने के फ़ैसले के साथ ही आईपीएल के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी पर आजीवन प्रतिबंध लगाने का रास्ता साफ़ हो गया है.

इस मसले पर बीते शनिवार को ललित मोदी को पटियाला हाउस कोर्ट से स्टे ऑर्डर मिल गया था, लेकिन दिल्ली हाई कोर्ट ने मंगलवार को बीसीसीआई के पक्ष में फ़ैसला सुनाया.

ललित मोदी पर वित्तीय अनियमितताओं के आरोप हैं और माना जा रहा है कि बोर्ड उन पर आजीवन प्रतिबंध लगा सकता है.

मोदी के ख़िलाफ़ अनुशासनात्मक कार्रवाई के लिए चेन्नई में बुधवार को बैठक बुलाई गई है और इस बैठक की अध्यक्षता बोर्ड अध्यक्ष एन श्रीनिवासनकर सकते हैं.

मोदी पर आजीवन प्रतिबंध लगाने के लिए दो तिहाई मतों का समर्थन आवश्यक है, यानी 31 सदस्यीय बोर्ड में कम से कम 21 सदस्यों के समर्थन के बाद ही मोदी पर पाबंदी लगाई जा सकती है.

मोदी को नहीं मिलेगा साथ

हालांकि भारतीय क्रिकेट बोर्ड के अंदर अब कोई सदस्य ललित मोदी के बचाव में आगे आएगा, इसकी संभावना बहुत कम है.

Image caption बोर्ड अध्यक्ष के तौर पर श्रीनिवासन का कार्यकाल एक साल के लिए बढ़ सकता है.

ललित मोदी ने आईपीएल की शुरुआत की थी और पहलेतीन सीज़न में इसके कमिश्नर रहे. लीग के संचालन में वित्तीय अनियमितताओं और दो नई टीमों की नीलामी के दौरान ग़लत तरीक़े अपनाने के लिए आईपीएल 2010 के आयोजन के बाद उन्हें निलंबित कर दिया गया था.

उधर निर्वासित तौर पर लंदन में रह रहे ललित मोदी ने इस मसले पर अपनी प्रतिक्रिया मीडिया को दी है. उन्होंने कहा, "प्रतिबंधित होने से मुझे निराशा नहीं होगी क्योंकि पहले से ही निलंबित हूं."

ललित मोदी ने ये भी कहा है कि वे निलंबन को अपने स्तर पर झेलेंगे लेकिन एन श्रीनावसन के हाथों भारतीय क्रिकेट को बर्बाद नहीं होने देंगे.

मोदी लगातार एन श्रीनिवासन की आलोचना करते रहे हैं. उन्होंने कहा कि वे चुपचाप बैठकर श्रीनिवासन को अपनी मनमर्ज़ी नहीं करने देंगे.

मोदी की ग़लती

सट्टेबाज़ी और फ़िक्सिंग के मामले में मुंबई पुलिस की चार्जशीट में दामाद गुरुनाथ मयप्पन का नाम शामिलहोने के बाद भी एन श्रीनिवासन बोर्ड अध्यक्ष पद से हटना नहीं चाहते.

इतना ही नहीं 29 सितंबर को होने वाली सालाना आम बैठक के दौरान इस बात की संभावना है कि श्रीनिवासन को बोर्ड अध्यक्ष के तौर पर काम करने के लिए और एक साल का कार्यकाल मिल जाए.

ललित मोदी को फ़िलहाल इस बात की चिंता ज्यादा है. उन्होंने कहा है कि श्रीनिवासन का कार्यकाल बढ़ता है तो ये भारतीय क्रिकेट के लिए सबसे बड़ी निराशा होगी.

मोदी ने ये भी माना कि उन्होंने आईपीएल की शुरुआत के दिनों में श्रीनिवासन की मदद करने की ग़लती की, लेकिन अब उसे सुधारना चाहते हैं.

वैसे रविवार को होने वाली आम बैठक से श्रीनिवासन को दूर रखने के लिए बिहार क्रिकेट संघ के सचिव आदित्य वर्मा ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाख़िल की है, जिस पर शुक्रवार को सुनवाई होगी.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार