'सचिन ने दुनिया भर में दिल जीते हैं'

सचिन, टेस्ट, क्रिकेट

अयाज़ मेमन, क्रिकेट पत्रकार

सचिन तेंदुलकर ने जितने दर्शकों का मनोरंजन किया है वो अतुलनीय है. उन्होंने जितने रिकॉर्ड बनाए हैं उसे देखकर लगता है कि उन्हें हिमालय जैसा कोई पहाड़ खड़ा कर दिया है. लेकिन मेरे हिसाब से उनकी जो सबसे खास बात रही है वो ये कि उन्होंने भारतीय क्रिकेट प्रेमियों में जिस तरह का भरोसा पैदा किया है वो अपने आप में बेमिसाल है. इस मामले में उनकी तुलना केवल डॉन ब्रैडमैन की जा सकती है.

Image caption क्रिकेट पत्रकार अयाज़ मेमन मानते हैं कि सचिन ने प्रशंसकों में क्रिकेट के लिए भरोसा पैदा किया है.

मेरे ख़्याल से यह अच्छा है कि वो अपना 200वां मैच खेलकर संन्यास ले रहे हैं. यह बहुत अच्छा है कि उनके प्रशंसकों को पहले से पता है कि वो संन्यास लेने वाले हैं. सचिन न सिर्फ़ भारत बल्कि जहाँ गए वहाँ उन्होंने दर्शकों का दिल जीता है. उन्होंने दो-तीन पीढ़ियों का मनोरंजन किया है. सचिन वन मैन इंडस्ट्री बन गए थे.

मुझे नहीं लगता कि क्रिकेट को लेकर उनकी ख़्वाहिश बची होगी. अगर उनके पूरे करियर को देखें तो अगले 25, 50 या 100 साल तक शायद ही उनसे बेहतर कोई कुछ कर सकेगा. लेकिन यह याद रखने की बात है कि सचिन ने अपना करियर 16 साल की उम्र में शुरू किया था.

आगे वो क्या करेंगे यह कहना मुश्किल है. वो राजनीति में जा सकते हैं, वो पहले ही राज्यसभा सदस्य हैं. उनके पास बहुत से विकल्प होंगे. वो क्रिकेट प्रशासन या कमेंटरी में भी जा सकते हैं. लेकिन मुझे लगता है कि वो पहले एकाध साल तो आराम करेंगे और अपने परिवार के साथ समय बिताना चाहेंगे.

(आदेश कुमार गुप्त से बातचीत के आधार पर)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार