अंतरिक्ष सैर से धरती पर लौटी ओलंपिक मशाल

  • 11 नवंबर 2013
कज़ाखस्तान, ओलंपिक मशाल

चार दिन की यात्रा के बाद ओलंपिक मशाल धरती पर वापस आ गई है. मशाल सोमवार सुबह कज़ाखस्तान में उतरी.

सोयूज़ अंतरिक्ष यान तीन अंतरिक्ष यात्रियों के साथ मशाल लेकर इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन से वापस लौटा.

तीनों अंतरिक्ष यात्री कज़ाखस्तान के समयानुसार सुबह 8.49 बजे बेहद ठंडे मौसम में पैराशूट से एक घास के मैदान पर उतरे. उन्हें स्पेस स्टेशन से धरती पर आने में करीब साढ़े तीन घंटे का समय लगा. जिसका सीधा प्रसारण रूसी और नासा टीवी पर किया गया.

जब मशाल को इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन पर ले जाया गया था, तब इसकी लौ बुझा दी गई थी.

दो रूसी अंतरिक्ष यात्रियों, ओलेग कोतोव और सर्गेई रियाझांस्की ने ओलंपिकमशाल को अंतरिक्ष की सैर कराई.

मशाल के साथ सोयूज़ कैप्सूल से रूस के फ़्योदोर युरचिखिन, अमरीका के केरेन नीबर्ग और इटली के लूका पर्मितानो वापस धरती पर आए.

अंतरिक्ष की सैर

2014 में रूस में विंटर ओलंपिक होने हैं और मशाल को अंतरिक्ष की सैर कराना इसी तैयारी की हिस्सा है.

इतिहास में पहली बार ओलंपिक मशाल को अंतरिक्ष में सैर कराई गई.

शनिवार को ओलंपिक मशाल कज़ाखस्तान के बायकानूर अंतरिक्ष स्टेशन से इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन तक ले जाई गई थी.

ओलंपिक मशाल को पहले भी दो बार अंतरिक्ष में ले जाया गया है -1996 और 2000 में, लेकिन तब उसे अंतरिक्ष यान से बाहर नहीं निकाला गया था.

इस मशाल का इस्तेमाल शीतकालीन ओलंपिक समारोह के दौरान किया जाएगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार