नडाल को हरा जोकोविच का अंतिम एटीपी टूर्नामेंट पर क़ब्ज़ा

गत चैंपियन सर्बिया के नोवाक जोकोविच ने दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी स्पेन के राफ़ेल नडाल को 6-3 और 6-4 से हराकर सत्र के अंतिम टूर्नामेंट एटीपी वर्ल्ड टूर फ़ाइनल्स में अपना ख़िताब बरक़रार रखा है.

दुनिया के दो शीर्ष खिलाड़ियों के बीच सोमवार को खेले गए फ़ाइनल में कड़े मुक़ाबले की उम्मीद की जा रही थी लेकिन जोकोविच ने लगातार सेटों में जीत दर्ज की. जोकोविच ने तीसरी बार यह टूर्नामेंट जीता है जबकि नडाल अभी तक एक भी बार यह ख़िताब नहीं जीत पाए हैं.

इस साल अमरीकी ओपन के फ़ाइनल में नडालसे हारने के बाद जोकोविच ने अपने प्रदर्शन में काफ़ी सुधार किया है और यह उनकी लगातार 22वीं जीत थी.

इस जीत के बाद जोकोविच ने कहा, ''सबसे अच्छी बात यह रही कि नडाल से कुछ बड़े मुक़ाबले विशेषकर रोलैंड गैरस, अमरीकी ओपन के फ़ाइनल और विंबल्डन के फ़ाइनल में हारने के बावजूद मैंने जीत हासिल की.''

'नडाल की हसरत'

जोकोविच ने एक बार फिर इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट को जीतने की नडाल की हसरत पर पानी फेर दिया हैं. शानदार फ़ॉर्म में चल रहे नडाल इस हार से एक बार फिर चारों ग्रैंड स्लैम, ओलंपिक में गोल्ड, डेविस कप और साल के अंतिम टूर्नामेंट को जीतने का कारनामा नहीं कर पाए. इनसे पहले केवल आंद्रे अगासी के नाम यह उपलब्धि दर्ज है.

हार के बाद नडाल ने कहा, ''आज की जीत-हार से मेरा करियर नहीं बदलने जा रहा. मैं बहुत निराश नहीं हूं. मुझे पता है कि आज मेरा दिन नहीं था.''

सोमवार को मिली यह हार नडाल के लिए एक बड़ा झटका है, क्योंकि पिछले माह ही उन्होंने डोकोविच को नंबर-1 से बेदख़ल किया था. अब इन दोनों दिग्गजों के बीच अगले साल ऑस्ट्रेलियन ओपन में एक बार फिर मुक़ाबले देखने को मिलेंगे.

पिछले 19 फ़ाइनल मुक़ाबलों में जोकोविच ने 10 बार नडाल को हराया है और सितंबर में अमरीकी ओपन के बाद से वह लगातार जीतते आ रहे हैं.

जोकोविच ने कहा, ''अमरीकी ओपन के बाद निश्चित तौर पर यह देखने की ज़रूरत थी कि मुझसे कहां ग़लती हो रही है विशेषकर नडाल के ख़िलाफ़ मुक़ाबलों में. मुझे लगता है पिछले ढाई माह में किए गए मेहनत का नतीजा दिखने लगा है.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार