किक्रेटः बैट और नोट लिए गणेश के कार्टून पर विवाद

भारतीय झंडा, ध्वज, क्रिकेट फैंस

भारतीय क्रिकेट टीम के दक्षिण अफ्रीका दौरे से पहले दक्षिण अफ्रीका के एक अख़बार में हिन्दू देवता गणेश के एक कार्टून पर विवाद खड़ा हो गया है.

इस कार्टून में हिन्दू देवता गणेश के सिर पर बीसीसीआई क्रिकेट इंडिया का मुकुट है, उनके एक हाथ में बल्ला है, बाकी हाथों में नोटों की गड्डी है और दक्षिण अफ्रीका (सीएसए) के आला अधिकारी उनके सामने मुख्य कार्यकारी हारुन लोर्गट की बलि चढ़ा रहे हैं.

कार्टूनिस्ट जोनाथन शापिरो का बनाया यह कार्टून दक्षिण अफ्रीकी साप्ताहिक 'संडे टाइम्स' में प्रकाशित हुआ है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार इस कार्टून के प्रकाशन के बाद कई धार्मिक और सामुदायिक संगठनों ने भारतीय क्रिकेट टीम से दक्षिण अफ्रीका के दौरे का बहिष्कार करने की अपील की है. ये दौरा अगले महीने शुरू होना है.

विरोध

पीटीआई के अनुसार कार्टून के प्रकाशन के बाद जोहानसबर्ग के दक्षिण में स्थित भारतीय बहुल शहर लेनासिया में एक जनसभा हुई जिसकी मेजबानी तमिल फ़ेडरेशन ऑफ गौटेंग (टीएफजी) ने की.

इस सभा में हिन्दू, मुस्लिम और ईसाई धार्मिक संगठनों के साथ कई समुदायों के नेता शामिल हुए. सभी ने कार्टून के विरोध पर सहमति जाहिर की थी.

टीएफजी के अध्यक्ष नदास पिल्लै ने कहा, ''जोनाथन शापिरो और संडे टाइम्स में कार्टून के प्रकाशित होने के बाद टीएफजी ने मीटिंग बुलाने का फ़ैसला किया. कार्टूनिस्ट और अख़बार के संपादक दोनों ने आपत्तिजनक कार्टून पर माफ़ी मांगने से मना कर दिया.''

उनका आरोप था कि कार्टून से अंतरराष्ट्रीय तौर पर भगवान गणेश को मानने वालों का अपमान हुआ है.

धार्मिक और सामुदायिक संगठन के नेता भारतीय उच्चायुक्त से मिलकर अपील करने वाले हैं कि भारत और बीसीसीआई से इस दौरे को रद्द करने को कहा जाए.

कार्टूनिस्ट का बयान

वहीं कार्टूनिस्ट शापिरो ने बीसीसीआई पर आरोप लगाते हुए कहा, ''इस कार्टून के जरिए उन्होंने गणेश का महज प्रतीकात्मक इस्तेमाल कर बीसीसीआई के तौर-तरीकों की आलोचना करने की कोशिश की है. इस धनी व ताक़तवर क्रिकेट बोर्ड ने सीएसए को धमकाकर सीईओ हारुन लोर्गट को किनारे करा दिया.''

संडे टाइम्स की संपादक फिलिशिया ओपेल्ट ने भी शापिरो के बयान से सहमति जताई.

ओपेल्ट ने कहा, ''हमने गणेश जी के माथे पर बीसीसीआई का नाम लगाया है, वो एक क्रिकेट बल्ला और धन लिए हैं, जिसके ज़रिए कार्टूनिस्ट ने अपनी बात कहनी चाही है.''

उन्होंने कहा कि कार्टून में हिन्दू भगवानों के इस्तेमाल का मतलब यह नहीं है कि वह उनके प्रति सम्मान की भावना नहीं रखती हैं.

बीसीसीआई-सीएसए गतिरोध

कार्टून के ज़रिए ये जाहिर करने की कोशिश की गई कि किस तरह लोर्गट को लेकर भारतीय क्रिकेट बोर्ड और क्रिकेट साउथ अफ्रीका के बीच ठनी. फिर भारतीय टीम के दौरे को बचाने के लिए सीएसए झुका. इसके लिए वह लोर्गट को हाशिए पर सरकाने पर सहमत हो गया.

पीटीआई के अनुसार अनुसार सीएसए मान चुका है कि भारतीय टीम के इस दौरे और बीसीसीआई से बातचीत में लोर्गट को दूर रखा जाएगा.

दुनिया के सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई और लोर्गट के बीच तल्खी तब की है जब वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के मुख्य कार्यकारी थे. इसी के चलते बीसीसीआई ने सीएसए को आगाह किया था कि वो उन्हें सीईओ नियुक्त नहीं करे.

आर्थिक दिक्कतों का सामना कर रहे सीएसए को भारतीय टीम के दौरे की ख़ासी ज़रूरत है.

हालांकि सीएसए ने इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है. बीसीसीआई की ओर से भी फिलहाल इस पर कोई बयान नहीं आया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार