युवराज के साथ ये तो होना ही था: अतुल वासन

युवराज सिंह

दक्षिण अफ़्रीका में एकदिवसीय और टेस्ट सिरीज़ में भारत को हार मिली.

दक्षिण अफ़्रीका सिरीज़ में किस खिलाड़ी ने कैसा प्रदर्शन किया अभी इसी की चर्चा हो रही है लेकिन इस बीच न्यूज़ीलैंड के आगामी दौरे के लिए टीम का एलान हुआ. न्यूज़ीलैंड में भारत को पांच एकदिवसीय और दो टेस्ट मैच खेलने हैं.

एकदिवसीय टीम में युवराज सिंह और टेस्ट टीम में प्रज्ञान ओझा को जगह नहीं मिली है.

युवराज सिंह को टीम से बाहर रखने के बारे में पूर्व तेज़ गेंदबाज़ अतुल वासन ने बीबीसी से कहा, ''मुझे लग रहा था कि ये होने वाला है क्योंकि चयनकर्ताओं का धैर्य भी अब जवाब दे गया है. नए खिलाड़ी भी तेज़ी से उभर रहे हैं.''

अतुल वासन का मानना है कि अजिंक्य रहाणे ने उम्दा प्रदर्शन किया है और इसी तरह दो-तीन खिलाड़ी और हैं जिन्हें भारत की टीम में मौका मिलना चाहिए.

साल 2015 में होने वाले विश्वकप का उल्लेख करते हुए अतुल वासन कहते हैं कि भारत को अपनी टीम तैयार करनी है और शायद चयनकर्ताओं को लगता है कि युवराज सिंह तब तक अपना प्रदर्शन संभाल नहीं पाएंगे, इस हिसाब से उन्हें टीम से बाहर रखने का फैसला सही प्रतीत होता है.

तलाश हरफ़नमौला की

स्टुअर्ट बिन्नी को टीम में जगह मिलने के सवाल पर अतुल वासन कहते हैं कि बिन्नी प्रथम श्रेणी क्रिकेट में कई वर्षों से अच्छे खेल का प्रदर्शन कर रहे हैं, लेकिन अंतरराष्ट्रीय एकदिवसीय मैच में एक हरफ़नमौला खिलाड़ी की भूमिका वह निभा पाएंगे या नहीं, उस मंच पर उनका प्रदर्शन देखे बिना अटकलबाज़ी नहीं हो सकती.

वरुण ऐरॉन को भी एकदिवसीय मैचों के लिए चुनी गई भारतीय टीम में जगह मिली है. वरुण के बारे में पूछे जाने पर अतुल वासन कहते हैं, ''मुझे लगता है कि वरुण को उनके पुराने प्रदर्शन और क्षमता के आधार पर टीम में चुना गया है क्योंकि हाल के दिनों में तो उन्होंने ऐसा कोई ख़ास प्रदर्शन किया नहीं है.''

अतुल वासन ये भी मानते हैं कि उम्दा फ़िटनेस ने वरुण को टीम में जगह दिलाने में अहम भूमिका निभाई है.

ज्यादा बदलाव नहीं

भारत की टेस्ट टीम में बहुत अधिक बदलाव नहीं किए गए हैं. शिखर धवन और रोहित शर्मा पिछले टेस्ट मैचों में बहुत उम्दा नहीं खेले हैं फिर भी उन्हें टीम में जगह मिली है.

इस बारे में अतुल वासन कहते हैं, ''रोहित शर्मा की प्रतिभा साबित हो चुकी है. भारतीय टेस्ट टीम में असली चुनौती मध्यक्रम की बल्लेबाज़ी है और मुझे लगता है कि अब सारा दबाव सुरेश रैना पर आएगा.''

दक्षिण अफ्रीका में भारतीय टीम के हालिया प्रदर्शन से न्यूज़ीलैंड में उसके मनोबल पर क्या असर पड़ेगा, इस सवाल पर अतुल वासन कहते हैं, ''न्यूज़ीलैंड की टीम उतनी ज़बर्दस्त नहीं है जितनी दक्षिण अफ्रीका की टीम है. लेकिन वहां के मौसम के हिसाब से भारतीय टीम के लिए कुछ मुश्किलें खड़ी हो सकती हैं.''

वह ये भी मानते हैं कि न्यूज़ीलैंड का दौरा भारत के लिए दक्षिण अफ्रीका की तरह कठिन नहीं होगा.

वनडे टीम- महेंद्र सिंह धोनी (कप्तान), शिखर धवन, रोहित शर्मा, विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे, अंबाती रायडू, सुरेश रैना, मोहम्मद शमी, भुवनेश्वर कुमार, रविचंद्रन अश्विन, रवींद्र जाडेजा, अमित मिश्रा, स्टुअर्ट बिन्नी, ईश्वर पांडेय, ईशांत शर्मा, वरुण ऐरॉन

(आदेश कुमार गुप्त से अतुल वासन की बातचीत पर आधारित)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार