20-20: दमदार होगा भारत-ऑस्ट्रेलिया मुक़ाबला

  • 30 मार्च 2014
india_win इमेज कॉपीरइट AFP

बांग्लादेश में खेले जा रहे वर्ल्ड टवेंटी-टवेंटी क्रिकेट टूर्नामेंट में भारत का सामना ऑस्ट्रेलिया से हो रहा है. कहने को दो बेहतरीन टीमें आमने-सामने हैं और एक दमदार मुक़ाबला होने की उम्मीद भी है.

इसके बावजूद इस मैच में कुछ भी दांव पर नहीं क्योंकि लगातार तीन जीत के साथ भारत पहले ही सेमीफ़ाइनल में अपनी जगह पक्की कर चुका है, तो दूसरी तरफ ऑस्ट्रेलिया लगातार दो मैच हारने के साथ ही सेमीफ़ाइनल की दौड़ से बाहर हो चुका है.

भारत ने शुक्रवार के टवेंटी-टवेंटी वर्ल्ड क्रिकेट टूर्नामेंट में मेज़बान बांग्लादेश को आठ विकेट से मात दी, तो वेस्टइंडीज़ ने ऑस्ट्रेलिया को एक बेहद रोमांचक मुक़ाबले में छह विकेट से हराया. साथ ही सारे समीकरण भारत के पक्ष में बनते चले गए.

भारत ने इस टूर्नामेंट में पहले तो पाकिस्तान और उसके बाद वेस्टइंडीज़ को मात दी थी. शुरुआती दो जीत मिलने से भारतीय टीम का खोया हुआ आत्मविश्वास लौट आया. इसके बावजूद भारतीय गेंदबाज़ बांग्लादेश के ख़िलाफ़ भी अपने शानदार प्रदर्शन का सिलसिला जारी रखेंगे, उस पर शायद ही किसी को इतना भरोसा रहा हो.

पाकिस्तान-बांग्लादेश भिड़ंत

ख़ास बात यह है कि भारत के सामने पाकिस्तान की टीम सात विकेट खोकर महज़ 131 रन बना सकी जबकि वेस्टइंडीज़ जैसी मज़बूत टीम भी सात विकेट खोकर 129 रन ही बना सकी.

बांग्लादेश की टीम भी इससे अलग साबित नही हुई और वह भी सात विकेट खोकर 138 रन ही बना सकी. जवाब में भारत ने पाकिस्तान और वेस्टइंडीज़ को 7-7 विकेट से तो बांग्लादेश को तो आठ विकेट से हराया.

इमेज कॉपीरइट Getty

भारत की जीत में विराट कोहली और सलामी बल्लेबाज़ रोहित शर्मा चमके. अब जब सात या आठ विकेट से भारत आसानी से जीत रहा है तो इसका अर्थ यह भी लगाया जा सकता है कि इस टूर्नामेंट में भारत के बल्लेबाज़ भी फ़ॉर्म में हैं.

भारत की जीत से उत्साहित कप्तान महेंद्र सिंह धोनी भी आखिरकार अपनी चुप्पी तोड़ने पर मजबूर हुए. बांग्लादेश के ख़िलाफ मिली जीत के बाद पत्रकारों से मुख़ातिब धोनी ने कहा कि जीत के बावजूद अभी भी एक दो क्षेत्र ऐसे हैं, जहां सुधार किया जा सकता है.

उन्होंने कहा, "कुछ कैच ज़रूर छूटे हैं लेकिन कुल मिलाकर फ़ील्डिंग भी ठीक है. वैसे कैच पकड़ने में तो सभी टीमों से ग़लतियां हो रही हैं. अभी तक मध्यमक्रम की परीक्षा नहीं हुई है, लेकिन उसमें हम कुछ नहीं कर सकते. वह हमारे हाथ में नहीं है."

"विराट और रोहित ने अच्छी बल्लेबाज़ी की है. थोड़ी बहुत बल्लेबाज़ी सबने की है. सुरेश रैना ने भी की है, युवराज ने भी की है. रविंद्र जडेजा और आर अश्विन को मौक़ा नहीं मिला, लेकिन उन्हें नैट में अभ्यास कराया जा रहा है."

भारतीय टीम के लिए अच्छी बात यह है कि भुवनेश्वर कुमार, अमित मिश्रा और आर अश्विन की कसी हुई और किफ़ायती गेंदबाज़ी के कारण विरोधी टीमें बड़ा स्कोर नहीं बना पा रही हैं, लेकिन ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ भारत को जी-जान लगानी पड़ सकती है.

इमेज कॉपीरइट AFP

भारत भले ही तीनों मैच जीतकर अंक तालिका में छह अंकों से साथ ग्रुप-2 में पहले स्थान पर है लेकिन उसे ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ भी जीत हासिल करनी होगी ताकि अपने ग्रुप की पहली टीम के रुतबे के साथ सेमीफ़ाइनल में जाए.

ऐसा नहीं है कि ऑस्ट्रेलिया ने कोई ख़राब खेल दिखाया है. हक़ीक़त तो यह है कि वेस्टइंडीज़ ने पिछले मुक़ाबले में ऑस्ट्रेलिया के मुंह से जीत छीन ली, वरना एक समय 16.3 ओवर में वेस्टइंडीज़ के चार विकेट 130 रन पर गिर चुके थे तब ड्वेन ब्रावो और डेरेन सैमी ने धुंआधार बल्लेबाज़ी कर टीम को जीत दिला दी.

एक अन्य मुक़ाबले में पाकिस्तान और मेज़बान बांग्लादेश आमने-सामने होंगे. पाकिस्तान इस मैच में बड़ी जीत हासिल करने की पूरी कोशिश करेगा ताकि वह वेस्टइंडीज़ के साथ दूसरी टीम के तौर पर सेमीफ़ाइनल में पहुंचने की दौड़ में शामिल हो सके.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार