वर्ल्ड टी-20 के चैंपियन का फ़ैसला आज

विराट कोहली इमेज कॉपीरइट AFP

वर्ल्ड टी-20 विश्व कप के फाइनल मुकाबले में श्रीलंका ने टॉस जीतकर गेंदबाजी करने का फैसला किया है. भारत पहले बल्लेबाजी कर रहा है.

मैच के दूसरे ओवर में ही भारत के बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे 4 रन पर आउट हो गए हैं. इस तरह भारत का अब तक का स्कोर बोर्ड दो ओवर में पांच रन पर एक विकेट है. बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे की जगह ली है रन मशीन कहे जाने वाले भारतीय बल्लेबाज विराट कोहली ने.

बांग्लादेश में खेले जा रहे वर्ल्ड टी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट का चैंपियन कौन बनेगा, इस सवाल का जवाब रविवार को भारत और श्रीलंका फ़ाइनल के बाद मिल ही जाएगा.

इससे पहले खेले गए सेमी फ़ाइनल मुक़ाबलों में भारत ने दक्षिण अफ़्रीका और श्रीलंका ने पिछले चैंपियन वेस्टइंडीज़ को मात दी.

अब अगर दोनों टीमों की तुलना की जाए तो भारतीय क्रिकेट टीम ने इस टूर्नामेंट में बेहद दमदार खेल दिखाया है.

सेमी फ़ाइनल में दक्षिण अफ्रीका को छह विकेट से हराने से पहले भारत ने सुपर टेन के मुक़ाबलों में पाकिस्तान, मेज़बान बांग्लादेश, वेस्टइंडीज़ और ऑस्ट्रेलिया को शिकस्त दी, यानी भारत अभी तक इस टूर्नामेंट में अजेय रहा है.

सेमी फ़ाइनल में दक्षिण अफ्रीका ने भारत के ख़िलाफ चार विकेट खोकर 172 रन बनाए. इससे पहले भारत के ख़िलाफ़ इस टूर्नामेंट में बांग्लादेश ने 138 रन बनाए थे जो भारत के ख़िलाफ सर्वाधिक स्कोर रहा था.

इसी से अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि भारत के गेंदबाज़ों ने कितनी शानदार गेंदबाज़ी की है.

'श्रीलंका कमज़ोर नहीं'

इमेज कॉपीरइट AFP

भले ही अमित मिश्रा ने सेमीफ़ाइनल में दक्षिण अफ्रीका के ख़िलाफ तीन ओवर में 36 रन दिए हों लेकिन दूसरे छोर से आर अश्विन ने 22 रन देकर तीन विकेट झटककर मैच को हाथ से बाहर निकलने से बचा लिया.

वैसे भी ट्वेंटी-ट्वेंटी क्रिकेट टूर्नामेंट में हर मैच में तो हर टीम को कम स्कोर पर रोका नहीं जा सकता.

अगर सेमी फ़ाइनल में भारत के ख़िलाफ़ कुछ अधिक रन बने भी तो विराट कोहली ने अपने कंधों पर ज़िम्मेदारी लेते हुए केवल 44 गेंदों पर पांच चौके और दो छक्के लगाते हुए नाबाद 72 रन बनाकर पांच गेंद शेष रहते मैच भारत की झोली में डाल दिया.

सलामी बल्लेबाज़ रोहित शर्मा ने भी इस टूर्नामेंट में कुछ अच्छी बल्लेबाज़ी की है तो सुरेश रैना ने दक्षिण अफ्रीका के ख़िलाफ़ केवल 10 गेंदों पर तीन चौके और एक छक्का लगाते हुए तेज़तर्रार 21 रन बनाकर रन गति को रफ़्तार दी.

विराट कोहली अभी तक इस विश्व कप में 128.04 के स्ट्राइक रेट के साथ 242 रन बना चुके हैं. उनकी बल्लेबाज़ी के महत्व को भारत के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी भी महसूस करते हुए मानते हैं कि विराट तीन नंबर पर बल्लेबाज़ी करने वाले सबसे समझदार बल्लेबाज़ों में से एक हैं और बाक़ी बल्लेबाज़ों को भी उनसे सीखना चाहिए.

इमेज कॉपीरइट AP

अब अगर भारत फ़ाइनल भी अपने नाम करना चाहता है तो टीम के हर बल्लेबाज़ को अपना योगदान देना होगा चाहे वह युवराज सिंह, सुरेश रैना, ख़ुद कप्तान धोनी, अजिंक्य रहाणे, रोहित शर्मा और समय पड़ने पर आर अश्विन ही क्यों न हो.

दूसरी तरफ़ श्रीलंका भी कोई कमज़ोर टीम नहीं है. ट्वेंटी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट से पहले उसने बांग्लादेश में ही खेले गए एशिया कप क्रिकेट टूर्नामेंट को अपने नाम किया था.

इसके अलावा श्रीलंका के दो बेहद महत्वपूर्ण और अनुभवी खिलाड़ी कुमार संगकारा और महेला जयवर्धने पहले ही कह चुके है कि यह उनका अंतिम ट्वेंटी-20 वर्ल्ड कप है इसलिए टीम के बाक़ी खिलाड़ी जी-जान लगाकर ख़िताब का तोहफ़ा इन्हें देना चाहेंगे.

तिलकरत्ने दिलशान, एंजेलो मैथ्यूज़, लाहिरू थिरिमन्ने और कुसल परेरा के होते उनकी बल्लेबाज़ी भी कम नही. गेंदबाज़ी में तो लसिथ मलिंगा अपने दिन सिर्फ यॉर्कर के दम पर क्या कुछ कर सकते हैं, यह सभी जानते हैं.

'अच्छी परीक्षा रही'

इमेज कॉपीरइट AFP

अब अगर भारत की टीम इस विश्व कप को जीत जाती है तो इसे दो बार जीतने वाली वह पहली टीम बन सकती है. इससे पहले भारत ने साल 2007 में वर्ल्ड ट्वेंटी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट जीता था.

इसके अलावा भारत धोनी की कप्तानी में 2011 में एकदिवसीय विश्व कप भी जीता था. अगर धोनी रविवार को ख़िताब जीतने में कामयाब होते हैं तो वह तीन विश्व कप जीतने वाले पहले कप्तान होंगे.

वैसे धोनी श्रीलंका को लेकर कहते हैं कि वह एक बेहद शानदार और प्रतिभाशाली टीम है, उनके पास इन विकेट का लाभ उठाने की क्षमता वाले स्पिनर है. इसके अलावा उनके पास अनुभवी और युवा खिलाड़ियों का मिश्रण है.

इसके अलावा महेंद्र सिंह धोनी ने फ़ाइनल से पहले कहा, "इस टूर्नामेंट में टीम को सेमी फ़ाइनल में पहली बार 138 से अधिक रनों का लक्ष्य हासिल करने का अवसर मिला, विकेट पहले से बेहतर था. कुल मिलाकर हमारे लिए अच्छी परीक्षा रही क्योंकि हमने बड़े स्कोर का पीछा भी किया और बड़ी टीमों को कम स्कोर पर भी आउट किया."

फ़ाइनल में भी टीम इसी अंदाज़ के साथ खेलेगी. अब देखना है कि फ़ाइनल किसके नाम रहता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार