फ़ुटबॉल से जुड़े सचिन और गांगुली

सचिन तेंडुलकर इमेज कॉपीरइट Reuters

भारत में क्रिकेट की आईपीएल और बैडमिंटन की आईबीएल की तर्ज़ पर अब फ़ुटबॉल की भी इंडियन सुपर लीग शुरू होने जा रही है.

वैसे तो इसके मुक़ाबले सितंबर में शुरू होंगे लेकिन रविवार को इस लीग के आयोजकों ने आठ फ्रेंचाइज़ी टीमों का एलान कर दिया.

फ्रेंचाइज़ी मालिकों में कोई छोटे-मोटे नाम नहीं बल्कि खेलों को दुनिया के बडे नामों के अलावा बॉलीवुड के बडे सितारे और कॉरपोरेट दिग्गज भी शामिल है.

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने पीवीपी वेंचर्स के साथ मिलकर कोच्चि फ्रेंचाइजी ख़रीदी है.

भारत के ही एक और क्रिकेट सितारे और पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने तो एक क़दम आगे बढ़कर स्पेनिश लीग की दिग्गज टीम एटलेटिको मेड्रिड और बिजनेसमैन हर्षवर्धन नेवतिया, संजीव गोयनका और उत्सव पारेख के साथ मिलकर कोलकाता फ्रेंचाइज़ी अपने नाम की.

बॉलीवुड भी पीछे नहीं

इमेज कॉपीरइट AFP

फ़ुटबॉल की इस इंडियन सुपर लीग की फ्रेंचाइज़ी ख़रीदने वालो में फ़िल्मी सितारे भी पीछे नहीं रहे. बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान ने वाधवन ग्रुप के साथ मिलकर पुणे फ्रेंचाइज़ी ख़रीदी.

युवा दिलों की धड़कन कहे जाने वाले रणबीर कपूर ने विमल पारेख के साथ मिलकर मुंबई फ्रेंचाइज़ी अपने नाम की.

इसी तरह अभिनेता जॉन अब्राहम तो कई बार भारतीय फ़ुटबॉल के कार्यक्रमों में भारत के पूर्व कप्तान बाईचुंग भूटिया के साथ नज़र आ चुके है, लेकिन अब वह गुवाहाटी फ्रेंचाइज़ी के मालिक हैं. उनके साथ आई-लीग की एक अहम टीम शिलांग लाजोंग भी साझीदार है.

समीर मनचंदा के स्वामित्व वाले डेन केबल नेटवर्क ने दिल्ली फ्रेंचाइज़ी और सन ग्रुप ने बैंगलोर टीम को ख़रीदा. सन ग्रुप के पास आईपीएल की टीम हैदराबाज सनराइजर्स भी है. इसके अलावा वीडियोकॉन के वेणुगोपाल धूत और उनके साथियों ने मिलकर गोवा फ्रेंचाइज़ी ख़रीदी.

इंडियन सुपर लीग का मुख्य आयोजक आईएमजी-रिलांयस है. यह टूर्नामेंट आने वाले समय में कितना कामयाब होगा? इसकी रूपरेखा क्या होगी? इन सवालों का जवाब जानने के लिए थोडा इंतज़ार करना होगा.

कामयाबी पर सवाल?

जाने-माने फ़ुटबॉल विशेषज्ञ और खेल पत्रकार जयदीप बासु कहते है कि अभी तक तो सिर्फ़ टीम मालिकों के नाम सामने आए है, लेकिन इनमें कई टीवी चैनल और जानी मानी हस्तियाँ भी शामिल है, ऐसे में यह जब शुरू होगा तो कामयाब तो होगा ही.

इमेज कॉपीरइट AP

रही खिलाड़ियों की बात तो इसमें अधिकतर वे खिलाड़ी होंगे जिन्होने हाल ही में अंतरराष्ट्रीय फ़ुटबॉल को अलविदा कहा है. हर टीम में कुल 20-22 खिलाड़ी हो सकते है जिनमें 8-10 विदेशी तथा बाक़ी भारतीय फ़ुटबॉलर होंगे.

इनमें कई युवा भारतीय फ़ुटबॉलर भी होंगे. सुनने में ऐसा भी आ रहा है कि हर टीम को एक मार्की फ़ुटबॉलर दिया जाएगा. यह मार्की खिलाड़ी वह होगा जिसने हाल ही में अंतराष्ट्रीय फ़ुटबॉल छोडी हो इनमें माइकल लोरेन, थियरे हैनरी और लुई फिगो का नाम भी चर्चा में है.

फिलहाल तो बस यही कहा जा सकता है कि जब तक खिलाड़ियों की नीलामी नहीं हो जाती तब तक थोड़ा इंतज़ार करना ही ठीक है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार