आईपीएल क्वॉलीफायर: पंजाब को टक्कर देगा कोलकाता

  • 27 मई 2014
इमेज कॉपीरइट PTI

आईपीएल टूर्नामेंट अब अपने आख़िरी चरण में पहुंच गया है और मंगलवार को पहले क्वॉलीफायर मुक़ाबले में किंग्स इलेवन पंजाब का सामना कोलकाता नाइटराइडर्स से होगा.

ईडन गार्डंस में खेले जाने वाले इस मुक़ाबले में कोलकाता नाइटराडर्स को अपने मैदान पर खेलने का लाभ मिलेगा. लीग चरण में पंजाब की टीम 22 अंकों के साथ पहले और कोलकाता की टीम 18 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर रही थी.

वैसे कोलकाता का प्रदर्शन आईपीएल के इस सत्र की शुरुआत में बेहद ख़राब रहा था. यूएई में खेले गए टूर्नामेंट के पहले चरण में कप्तान गौतम गंभीर लगातार तीन मैचों में अपना खाता भी नहीं खोल सके जबकि उसके बाद अगले मैच में केवल एक रन ही बना सके.

हालात यहां तक थे कि अगर वह कप्तान नहीं होते तो शायद टीम में अपनी जगह भी नहीं बना पाते, लेकिन जैसे ही आईपीएल भारत लौटा कोलकाता की मुस्कान भी लौट आई.

कोलकाता ने लीग चरण में 14 में से नौ मुक़ाबले जीते और उसे पांच में हार का सामना करना पडा.

पंजाब भारी

इमेज कॉपीरइट PTI

दूसरी तरफ पंजाब इस बार हर मामले में किंग साबित हुई और उसने ग्लेन मैक्सवेल, डेविड मिलर, कप्तान जॉर्ज बेली, मनन वोहरा जैसे धुरंधर बल्लेबाज़ो और मिचेल जॉनसन जैसे अनुभवी तेज़ गेंदबाज़ के दम पर 14 में से 11 मैच जीते और उसे केवल तीन मैचों में हार नसीब हुई.

मैक्सवेल का बल्ला इस आईपीएल में जमकर बोला और वह अब तक 533 रन बना चुके हैं. वहीं कोलकाता के लिए ओपनर रोबिन उथप्पा कामयाब बल्लेबाज़ के रूप में उभरे और उन्होंने टूर्नामेंट में अभी तक सर्वाधिक 613 रन बनाए हैं.

कोलकाता के सुनील नारायण आईपीएल के सातवें संस्करण में अभी तक सबसे अधिक 20 विकेट लेने में सफल रहे हैं.

भारत के पूर्व स्पिनर मनिंदर सिंह इस मुक़ाबले को लेकर किसी भी भविष्यवाणी से बचकर कहतें है कि 20-20 ओवर की क्रिकेट में कुछ भी कहना बेहद मुश्किल है.

उनका कहना है, "अब देखिए मुंबई ने राजस्थान रॉयल्स के ख़िलाफ़ क्या किया, जबकि उन्हें मालूम था कि उन्हें जीत का लक्ष्य केवल 14.3 ओवर में हासिल करना है और कौन कह सकता था कि ऐसा मुमकिन है."

इसके बावजूद मनिंदर सिंह मानते है कि यूसूफ पठान का फॉर्म में आना और उथप्पा की बल्लेबाज़ी कोलकाता का जोश बढ़ा सकती है. इसके अलावा गंभीर ने भी कुछ अच्छी पारियां खेली हैं. मनिंदर सिंह कोलकाता की गेंदबाज़ी को पंजाब से बेहतर मानते है.

वहीं भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज़ आकाश चोपड़ा का भी मानना है कि सुनील नारायण, पीयूष चावला और शाकिब अल हसन जैसे गेंदबाज़ों के रहते कोलकाता का पलड़ा पंजाब के मुक़ाबले भारी लगता है.

मुंबई के सामने चेन्नई

इमेज कॉपीरइट PTI

दूसरी तरफ आईपीएल में बुधवार को एलिमिनेटर मुक़ाबले में मुंबई का सामना चेन्नई सुपर किंग्स से होगा. चेन्नई ने महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में लीग चरण में नौ मैच जीते और पांच हारे जबकि मुंबई इंडियंस ने, जो कि पिछली चैंपियन भी है, 14 में से 7 मैच जीते और इतने ही मैचों में उसे हार का सामना करना पडा.

रोहित शर्मा की कप्तानी में पिछली बार मुंबई ने शुरू से ही शानदार खेल दिखाया था लेकिन इस बार तो उसे शुरुआत में जीत के भी लाले पड़ गए और वह लगातार पांच मैच हारी.

उसके बाद टीम ने शानदार वापसी की और रविवार को तो उसने राजस्थान रॉयल्स को एक बेहद मुशकिल मुक़ाबले में हराकर बड़े-बड़े क्रिकेट पंडितों को भी हैरान कर दिया.

इस मुक़ाबले को लेकर लेकर आकाश चोपड़ा कहते है, "सबसे पहले तो मुंबई ने जिस तरह से राजस्थान के ख़िलाफ़ खेल दिखाया वैसा तो मैंने सोचा तक नही था कि कभी ऐसा मैच देखूंगा लेकिन देखा. अब जो टीम ऐसा करे तो उसका यहां तक पहुंचना जायज़ है."

वो कहते हैं, "अब यहां से आगे का रास्ता अच्छा हो सकता है लेकिन अब उनका सामना चेन्नई से है. चेन्नई की टीम को धोनी की कप्तानी में नॉकआउट मैच खेलने और जीतने की आदत अधिक है."

मनिंदर सिंह भी चेन्नई को जीत का दावेदार मानते हुए कहते हैं, "मुंबई जैसे जीती उससे उसके हौंसले बुलंद होंगे लेकिन धोनी ने अपनी कप्तानी में चेन्नई को एक इकाई बना दिया है."

चेन्नई के सलामी बल्लेबाज़ डवेन स्मिथ ने इस आईपीएल में 535 रन बनाए है जबकि उनके तेज़ गेंदबाज़ मोहित शर्मा ने 19 विकेट लिए है. उनके अलावा सुरेश रैना, आफ़ स्पिनर आर अश्विन और ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा भी अपने दम पर किसी भी मैच का पासा पलटने की क्षमता रखते हैं.

बुधवार को आईपीएल का एलिमिनेटर मुक़ाबला खेला जाएगा जिसमें मुंबई अपने ही मैदान पर चेन्नई सुपर किंग्स का सामना करेगी. आईपीएल का फाइनल एक जून को खेला जाएगा जबकि इससे पहले 30 मई को आईपीएल का दूसरा क्वॉलीफायर खेला जाएगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार