जर्मन ख़ुफ़िया पुलिस की भी थी फ़ुटबॉल टीम

डायनेमो ड्रे्स्डेन टीम इमेज कॉपीरइट Getty

फ़ुटबॉल विश्व कप जीतने के लिए जर्मन टीम अर्जेंटीना से मुक़ाबला करेगी. जर्मनी में फ़ुटबॉल की दीवानगी पुरानी है. कुछ जर्मन फ़ुटबॉल प्रशसंकों को शायद याद हो कि पूर्वी जर्मनी की प्रसिद्ध ख़ुफ़िया पुलिस (श्टाज़ी) की भी अपनी फ़ुटबॉल टीम थी.

आज यह सुनने में भले अजीब लगे पर यह सच है. और श्टाज़ी की फ़ुटबॉल टीम कोई ऐसी-वैसी टीम नहीं थी. उसे अपने दौर की सबसे अच्छी टीमों में गिना जाता था.

श्टाज़ी ने अपनी टीम का नाम रखा था, बर्लिनर फ़ूसबॉल क्लब डायनेमो (बीएफ़सी डायनेमो).

पूर्वी जर्मनी (जर्मन डेमोक्रेटिक रिपब्लिक) और पश्चिमी जर्मनी (फ़ेडरल रिपब्लिक ऑफ़ जर्मनी) का 1990 में एकीकरण हुआ था.

मज़बूत टीम

टीम के सबसे बड़े प्रशंसक श्टाज़ी प्रमुख एरिक मीलके ख़ुद थे जिन्होंने सभी श्रेष्ठ खिलाड़ियों को अपनी टीम में शामिल कर एक मज़बूत टीम बनाई थी.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption श्टाज़ी प्रमुख एरिक मीलके को जर्मनी के एकीकरण के बाद एक हत्या के मामले में जेल हो गई थी.

मीलके को एक राजनीतिक हत्या में शामिल होने की वजह से जर्मनी के एकीकरण के बाद जेल हो गई थी.

मीलके साल 1930 के दशक में सोवियत संघ भाग गए थे, जहां वे स्टालिन के वफ़ादार बन गए थे.

फ़ेडरल कमीशन ऑफ़ श्टाज़ी रिकॉर्ड्स के मुताबिक़ वह मॉस्को से एक मज़बूत फ़ुटबॉल टीम की कल्पना के साथ वापस लौटे थे और इसे पूर्वी जर्मनी और समाजवाद की श्रेष्ठता साबित करने के लिए इस्तेमाल करना चाहते थे.

उन्होंने कहा था, "फ़ुटबॉल में सफलता खेल के क्षेत्र में समाजवादी वर्चस्व को साफ़ तौर पर साबित करेगी."

इसीलिए उन्होंने अच्छे खिलाड़ियों को शामिल कर एक मज़बूत टीम बनाई.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार