यू्क्रेन: फुटबॉल क्लब पर संकट की मार

इमेज कॉपीरइट Getty

यूक्रेन में जारी संकट की कीमत अब दोनेत्स्क शहर के एक फुटबॉल क्लब को भी चुकानी पड़ रही है.

शख्तर दोनेत्स्क नाम के इस क्लब के छह खिलाड़ी एक दोस्ताना मैच खेलने के लिए फ्रांस गए थे, लेकिन अब उनमें से छह खिलाड़ियों ने वापस आने से इनकार कर दिया है.

दोनेत्स्क अभी रूस समर्थक अलगाववादियों के नियंत्रण में हैं और यूक्रेन की सेना उसे फिर से हासिल करने के लिए प्रयास कर रही है.

फ्रांस के ल्योन में खेले गए मैच के बाद एलेक्स तीक्सीरिया, फ्रेड, देन्तीन्हो, डगलस कोस्ता, फेकुंदो फेरेयरा और इस्लाइल वापस नहीं आए हैं.

'भुगतना होगा ख़मियाजा'

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption वापस न आने वाले सभी खिलाड़ी विदेशी हैं

क्लब के अध्यक्ष रिनात अखमेतोव ने चेतावनी दी है कि अगर ये खिलाड़ी वापस नहीं आते हैं तो उन पर प्रतिबंध लगाया जा सकता है.

उन्होंने क्लब की वेबसाइट पर लिखा, “इन खिलाड़ियों से अनुबंध किया गया है जिसका उन्हें पालन करना होगा. अगर वे वापस नहीं आते हैं तो मुझे लगता है कि उन्हें इसका ख़मियाजा भुगतना होगा.”

उन्होंने कहा, “आशा है कि उन्हें सद्बुद्धि आएगी और खिलाड़ी किसी लालच या दहशत में नहीं आएंगे. ख़ास तौर से तब जब डरने वाली कोई बात ही नहीं है.”

इन छह खिलाड़ियों में से पांच ब्राजील के है जबकि फेरेयरा का संबंध अर्जेंटीना से है और इनका बाजार मूल्य 4.6 करोड़ पाउंड है.

शख्तर क्लब को संकट के कारण फिलहाल अपने घरेलू मैदान डॉनबास एरेना में खेलने की अनुमति नहीं है.

यूक्रेन में फुटबॉल का नया सीज़न आने वाले सप्ताहांत पर शुरू हो रहा है और यूक्रेन के फुटबॉल संघ को अभी ये तय करना है कि क्लब कहां खेलेगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार