ये हैं भारत के अगले 'सुशील कुमार'

  • 2 अगस्त 2014
भारत के पहलवान इमेज कॉपीरइट Getty

"वो जब भी खेलता है तो मुझे उसके अंदर अपना अक्स नज़र आता है और मुझे यक़ीन है कि वो भारत के लिए ओलंपिक पदक भी लेकर आएगा."

ये कहना है भारत के स्टार पहलवान सुशील कुमार का 19वर्षीय पहलवान अमित कुमार के बारे में.

अमित ने ग्लासगो कॉमनवेल्थ गेम्स में 57 किलो वर्ग में स्वर्ण पदक जीता.

लेकिन अमित ये अच्छी तरह जानते हैं कि सुशील की जगह लेना आसान नहीं है.

बीबीसी से ख़ास बातचीत में अमित बिना झिझके कहते हैं, "अच्छा लगता है जब कोई मेरी तुलना सुशील से करता है लेकिन अभी बहुत सफ़र बाक़ी है. वो महान खिलाड़ी हैं और अभी मुझे ख़ुद को साबित करना है. मैं जानता हूं उनके जैसा होना कितनी बड़ी बात है."

'सुशील जैसी तकनीक'

सुशील जैसा बनने के लिए उन्होने कुश्ती की ट्रेनिंग के लिए दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में दाख़िला लिया, जहां सुशील पहले से ही अभ्यास कर रहे थे.

कुश्ती में भारत के राष्ट्रीय कोच यशवीर ने बताया "सुशील और अमित की तकनीक एक जैसी है. मैट पर तो दोनों एक जैसे लगते हैं बस वज़न का फ़र्क़ है. हमें उम्मीद है कि 2016 के रियो ओलंपिक में अमित भी सुशील जैसा कारनामा करेगा."

'स्वर्ण' के बाद स्टार

अमित को जब से थोड़ी लोकप्रियता मिली है लोग ये सवाल भी पूछने लगे हैं कि क्या वो फ़िल्मो में आना चाहेंगे इस पर अमित शरमा जाते हैं.

"देखिए अभी तो मैं एशियाई खेलों पर फ़ोकस कर रहा हूं जो जल्द ही होने वाले हैं. लेकिन अगर मौक़ा मिले तो फ़िल्म भी कर लेंगे."

कैसी फ़िल्म करेंगे अमित?

उनका जवाब था, "भाग मिल्खा भाग जैसी फ़िल्म करना चाहूंगा जिसमें बॉडी दिखानी हो और स्टैमिना की ज़रूरत हो. लेकिन वो सब बाद में देखेंगे. पहले खेल खेलना है."

अमित इतने शर्मीले हैं कि महिला प्रशंसकों की बातों से घबरा जाते हैं. "लड़कियों से बात कर लेते हैं सर, लेकिन वो क्या बात करेंगी पता नहीं. जब कोई मिलती है तो बात कर लेता हूं वर्ना दूर ही रहता हूं."

अमित से सिर्फ़ उनके कोच को ही नहीं बल्कि दूसरे पहलवानों को भी काफ़ी उम्मीदें हैं क्योंकि ख़ुद सुशील कह चुके हैं कि अमित में मेरा अक्स नज़र आता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार