इंग्लैंड का तुरुप का इक्का हैं मोईन अली

मोईन अली, इंग्लैंड क्रिकेटर इमेज कॉपीरइट AFP GETTY

इंग्लैंड के पाकिस्तानी मूल के स्पिनर मोईन अली ने भारत के ख़िलाफ़ टेस्ट सिरीज़ में शानदार गेंदबाज़ी की है.

मोईन अली ने चार मैचों में 22.94 के औसत से 19 विकेट लिए हैं और पूरी सिरीज़ में जेम्स एंडरसन के बाद सबसे कामयाब गेंदबाज़ साबित हुए हैं.

बीबीसी के क्रिकेट संवाददाता जोनाथन एगन्यू मानते हैं कि इंग्लैंड की सफ़लता के पीछे मोईन अली हैं और अब उन्हें टेस्ट में ज़्यादा सम्मान मिलेगा.

पढ़ें जोनाथन एगन्यू का पूरा विश्लेषण

भारत के ख़िलाफ़ टेस्ट सिरीज़ में इंग्लैंड ने शानदार वापसी और जीत के पीछे मोईन अली का वो कमाल है जिसमें वो एक पार्ट टाइम स्पिनर से इंग्लैंड को जीत दिलाने वाले मुख्य किरदार बन गए.

मोईन अली ने साउथैम्पटन टेस्ट की दूसरी पारी में छह विकेट लिए और ओल्ड ट्रैफ़र्ड में चार विकेट. ये दोनों ही टेस्ट इंग्लैंड ने जीते.

गर्मियों की शुरुआत में जब मोईन अली को टीम में लिया गया था तब उनकी गेंदबाज़ी से कम उम्मीदें थीं और बल्लेबाज़ी से ज़्यादा.

इमेज कॉपीरइट AFP

कप्तान कुक को भी ग्रैम स्वान जैसे शानदार स्पिनर को खिलाने की आदत पड़ गई थी इसलिए उन्होंने इस नए खिलाड़ी पर पूरा भरोसा नहीं दिखाया.

ऐसे बढ़ा आत्मविश्वास

जब मोईन ने गेंदबाज़ी की तब भी ये नहीं दिखाई दिया कि वो अपने कप्तान के भरोसे के काबिल हैं. वो काफ़ी महंगे साबित हुए.

कुछ हफ़्ते आगे चलिए, अब मोईन न सिर्फ़ कसी हुई गेंदबाज़ी कर रहे हैं बल्कि विकेट भी ले रहे हैं.

वो इयान बेल के साथ मिलकर काम कर रहे हैं, बेल स्पिन अच्छे से खेल लेते हैं.

इमेज कॉपीरइट AP

मोईन की गेंदबाज़ी में बदलाव शानदार रहा है. उन्हें ये समझ आ गया है कि टेस्ट में गेंद थोड़ी तेज़ फेंकनी होती है.

कभी-कभी भारत ने भी थोड़ी ढिलाई बरती. आसानी से अपना विकेट उनके हवाले कर दिया, लेकिन इससे मोईन का आत्मविश्वास बढ़ा ही है.

बल्लेबाज़ी से चुनौती

अब टेस्ट बल्लेबाज़ मोईन का सम्मान करेंगे. उन पर शुरुआत से ही प्रहार नहीं होंगे और शायद उन्हें भी विकेट के लिए ज़्यादा मेहनत करनी पड़े.

इमेज कॉपीरइट AFP

उन्होंने बतौर टेस्ट स्पिनर शानदार शुरुआत की है और अगली चुनौती इस सफलता को बल्लेबाज़ी में दोहराना है.

उन्हें शॉर्ट बॉल खेलने में दिक्क़त होती है लेकिन मेहनत करने पर ये समस्या भी दूर की जा सकती है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार