दिलशान को इस्लाम कबूल करने की 'नसीहत'

अहमद शहज़ाद और तिलकरत्ने दिलशान इमेज कॉपीरइट AFP

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने टीम के सलामी बल्लेबाज़ अहमद शहज़ाद की श्रीलंका के खिलाड़ी तिलकरत्ने दिलशान के साथ हुई बातचीत में धार्मिक टिप्पणी की जाँच के लिए तीन सदस्यीय समिति बनाई है.

इस समिति की अध्यक्षता ज़ाकिर ख़ान करेंगे. पीसीबी के प्रवक्ता आग़ा अकबर ने बीबीसी को बताया कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने श्रीलंकाई क्रिकेट बोर्ड को पत्र भी लिखा है, जिसमें इस मामले की विस्तार से जानकारी मांगी गई है.

शनिवार को दम्बुला में वनडे मैच ख़त्म होने के बाद मैदान से ड्रेसिंग रूम की ओर लौटते समय अहमद शहज़ाद ने तिलकरत्ने दिलशान से कहा था, "अगर कोई ग़ैर मुस्लिम इस्लाम क़बूल करता है, तो वो सीधा जन्नत में जाता है, चाहे उसने ज़िंदगी भर कोई भी काम किया हो."

इसके जवाब में दिलशान ने कहा कि वे ऐसा नहीं चाहते. इस पर अहमद शहज़ाद ने कहा कि फिर आग में जाने को तैयार रहो. दोनों के बीच हुई बातचीत की वीडियो रिकॉर्डिंग मौजूद है.

दिलशान मुसलमान पिता और बौद्ध माँ के बेटे हैं. शुरू में उनका नाम तुआन मोहम्मद दिलशान था. लेकिन बाद में दिलशान ने बौद्ध धर्म अपना लिया था.

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के मैनेजर मोईन ख़ान के मुताबिक़ ये दोनों की निजी बातचीत थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार