चेन्नई को परेशान नहीं कर पाएँगे सुनील नारायण

सुनील नारायण इमेज कॉपीरइट BCCI
Image caption नारायण को गेंदबाज़ी से निलंबित किया गया है मगर वह मैच में खेलने के लिए टीम में चुने जा सकते हैं

चैंपियंस लीग टी-20 के फ़ाइनल में जगह बनाने वाली कोलकाता नाइटराइडर्स के सामने एक मुश्किल आ खड़ी हुई है.

आईपीएल और चैंपियंस लीग के कई मैचों में अपने बेहतरीन प्रदर्शन से विरोधियों को पस्त कर देने वाले स्पिनर सुनील नारायण पर टूर्नामेंट में अब गेंदबाज़ी करने से रोक लगा दी गई है.

दरअसल मामला ये है कि उनके गेंदबाज़ी ऐक्शन पर फिर सवाल खड़ा किया गया है.

पढ़िए: फ़ाइनल में कोलकाता के सामने होगी चेन्नई

इस मामले में जारी एक आधिकारिक बयान के अनुसार, "लगातार दूसरे मैच में संदिग्ध तौर पर गेंदबाज़ी के अवैध ऐक्शन के लिए नारायण के ख़िलाफ़ रिपोर्ट दर्ज की गई है. होबार्ट हरीकेंस के विरुद्ध हुए सेमीफ़ाइनल में ये मामला हुआ."

तीसरे अंपायर विनीत कुलकर्णी के साथ ही मैदान पर रहे अंपायर रॉड टकर और एस रवि ने जब मैच का वीडियो देखा तो उन्हें लगा कि 'नारायण की गेंदबाज़ी के दौरान उनकी कुहनी से जो झटका लग रहा है वो स्वीकार्य सीमा से ज़्यादा है'.

'खेलें पर गेंदबाज़ी नहीं'

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption गौतम गंभीर के लिए फ़ाइनल से पहले ये एक बड़ी परेशानी होगी

चैंपियंस लीग की नीति के अनुसार अगर कोई खिलाड़ी चेतावनी दिए गए खिलाड़ियों की सूची में है और उसकी गेंदबाज़ी के ख़िलाफ़ फिर रिपोर्ट होती है, तो जब तक वह ऐसे आरोपों से बरी नहीं हो जाता वह बीसीसीआई की ओर से आयोजित किसी भी मैच में नहीं खेल सकेगा और उस टूर्नामेंट से निलंबित कर दिया जाएगा.

बयान के अनुसार, "नारायण को गेंदबाज़ी से निलंबित किया गया है मगर वह मैच में खेलने के लिए टीम में चुने जा सकते हैं. बस वह गेंदबाज़ी नहीं कर सकेंगे."

चार अक्तूबर को कोलकाता फ़ाइनल में चेन्नई सुपरकिंग्स के सामने होगी.

इससे पहले 29 सितंबर को कोलकाता और डॉल्फ़िंस के बीच हुए मैच में इसी आधार पर नारायण के ख़िलाफ़ रिपोर्ट दर्ज हुई थी. उस मैच में तीसरे अंपायर कुमार धर्मसेना के साथ मैदान में मौजूद अंपायर अनिल चौधरी और सी शम्सुद्दीन ने ये रिपोर्ट दर्ज की थी.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप हमसे फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ सकते हैं.)

संबंधित समाचार