बॉक्सिंग विवादः सरिता ने माफ़ी मांगी

भारतीय मुक्केबाज़ सरिता देवी एशियाड इमेज कॉपीरइट Reuters

भारतीय मुक्केबाज़ एल सरिता देवी ने एशियाड में कांस्य पदक स्वीकार न करने के लिए अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाज़ी संघ से माफ़ी मांगी है.

उन्होंने अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाज़ी संघ (एआईबीए) से अपने अस्थाई निलंबन को हटाने की मांग करते हुए आश्वासन दिलाया है कि ऐसा दोबारा नहीं होगा.

अस्थाई निलंबन के कारण अगले महीने होने वाली विश्व चैंपियनशिप में सरिता का भाग लेना मुश्किल था.

इंचियोन एशियाई खेलों में एक विवादास्पद फ़ैसले के बाद सरिता देवी ने कांस्य पदक स्वीकार करने से इनकार कर दिया था. उन्होंने कांस्य पदक भी रजत जीतने वाली दक्षिण कोरियाई मुक्केबाज को दे दिया था.

'फिर नहीं होगा'

समाचार एजेंसियों के अनुसार उन्हें दिए गए नोटिस के जवाब में सरिता ने कहा, "मैं मानती हूं कि जो हुआ, नहीं होना चाहिए था. इस पर मुझे बेहद खेद है, इसके साथ ही मैं यह वादा करती हूं कि ऐसा फिर नहीं होगा."

उन्होंने कहा, "अपनी ग़लती का अहसास होने पर मैंने तुरंत एशिया की ओलंपिक परिषद (ओसीए) और एशियाई खेल 2014 की आयोजन समिति को माफ़ीनामा भेज दिया है और कांस्य पदक स्वीकार कर लिया है."

इमेज कॉपीरइट Reuters

सरिता देवी के पति थोइबा सिंह ने बीबीसी के आदेश कुमार गुप्त से बातचीत में कहा, "सरिता ने वहां, इंचियोन में भी माफ़ी मांग ली थी और कांस्य पदक भी ले लिया था. उन्होंने वापस आकर दक्षिण कोरिया में होने वाली विश्व चैंपियनशिप के लिए प्रैक्टिस भी शुरू कर दी थी. तभी अचानक उन पर प्रतिबंध लगने की ख़बर आई. एआईबीए के नोटिस का जवाब भेजने के बाद उम्मीद है कि प्रतिबंध जल्द ही हटा लिया जाएगा."

'सरिता तैयारी में जुटी हैं'

सरिता देवी के पति थोइबा सिंह ने बताया कि सरिता पूरी लगन के साथ विश्व चैंपियनशिप की तैयारी कर रही हैं.

समाचार एजेंसियों के मुताबिक भारतीय खेल मंत्रालय और बॉक्सिंग संघ सरिता देवी को समर्थन दे रहे हैं.

सोमवार को खेल मंत्रालय और बॉक्सिंग इंडिया ने एक बैठक की और सरिता देवी की बिना शर्त माफ़ी और साफ़ रिकॉर्ड के मद्देनज़र एआईबीए से प्रतिबंध हटाने की मांग की है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

बॉक्सिंग इंडिया के अध्यक्ष संदीप जगोड़िया ने पीटीआई से कहा, "वह पूरी तरह भावनात्मक प्रतिक्रिया थी. यह पूर्वनियोजित नहीं था, यह स्वभाविक आवेग था."

सरिता के अलावा उनके साथ इंचियोन में मौजूद तीन कोच, जिनमें नेशनल टीम के कोच गुरबख़्श सिंह संधु भी शामिल थे, सोमवार को अपना जवाब दाखिल कर रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार