सचिन के दावे पर किसने क्या कहा

  • 4 नवंबर 2014
ग्रेग चैपल इमेज कॉपीरइट AP

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कोच ग्रेग चैपल ने सचिन तेंदुलकर के उस दावे को ख़ारिज कर दिया है कि चैपल राहुल द्रविड़ को हटाकर सचिन को कप्तान बनाना चाहते थे.

उधर, पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली, तेज़ गेंदबाज़ ज़हीर ख़ान और ऑफ़ स्पिनर हरभजन सिंह ने तेंदुलकर के चैपल को 'रिंग मास्टर' बताने के दावे को सही ठहराते हुए कहा कि उनके कार्यकाल में भारतीय क्रिकेट को बहुत नुक़सान हुआ.

दावा ख़ारिज

क्रिकेट डॉटकॉम डॉट एयू को दिए इंटरव्यू में चैपल ने कहा, "मैं ज़ुबानी जंग में नहीं उलझना चाहता, मैं स्पष्ट कह सकता हूं कि भारतीय टीम का कोच रहने के दौरान मैंने कभी सचिन को राहुल द्रविड़ की जगह कप्तान बनाने की कोशिश नहीं की थी."

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार सचिन ने अपनी आत्मकथा 'प्लेइंग इट माई वे' में कहा है कि 2007 विश्व कप से कुछ महीने पहले चैपल ने उन्हें द्रविड़ की जगह कप्तान बनने का प्रस्ताव दिया था.

चैपल ने कहा, "मैं किताब में इस तरह के दावे से बेहद हैरान हूं. मैं सचिन के घर सिर्फ़ एक बार गया हूं और वह भी तत्कालीन फ़िजियो और सहायक कोच के साथ."

इमेज कॉपीरइट AFP

'द्रविड़ को पता था'

उधर, पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने दावा किया है कि उनके साथी खिलाड़ी व पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ को इस बारे में सब पता था कि चैपल का मक़सद क्या था, लेकिन लेकिन फिर भी द्रविड़ चैपल पर काबू नहीं पा सके.

गांगुली ने कहा, "मैं अब उतना पीछे नहीं जाना चाहता, सभी ने नतीजे देखे थे. वो भारतीय क्रिकेट का एक बेहद खराब दौर था और एक क्रिकेटर के लिए भी, ख़ासतौर पर जब खिलाड़ी मैं हूं. झूठ पर झूठ बोले गए और छह महीने बाद वो (चैपल) द्रविड़ को हटाकर सचिन को कप्तानी सौंपना चाहते थे. ये दिखाता है कि वो (चैपल) किस तरह अपने काम को अंजाम दे रहे थे."

इमेज कॉपीरइट PA

तेज़ गेंदबाज़ ज़हीर ख़ान और हरभजन ने भी चैपल के कार्यकाल की आलोचना की है.

ज़हीर का बयान

ज़हीर ख़ान ने भी चैपल के कार्यकाल को भारतीय क्रिकेट का सबसे बुरा दौर बताते हुए कहा कि चैपल ने 2005 में उनसे कहा था कि जब तक वह टीम के कोच हैं तब तक वह कभी भारत के लिए नहीं खेल पाएंगे.

इमेज कॉपीरइट AP

ज़हीर ने कहा, "कोच बनने के बाद एक दिन चैपल मेरे पास आए और बोले, ज़हीर, मैं जब तक कोच रहूंगा तुम भारत के लिए नहीं खेलोगे."

ज़हीर ने कहा, "मैं हैरान था. मैं क्या करूं, क्या मैं विद्रोह करूं. कप्तान से पूछूं कि क्या हुआ है?"

बुरा दौर

ऑफ़ स्पिनर हरभजन सिंह ने कहा है कि टीम के कुछ खिलाड़ी इस आस्ट्रेलियाई को 'चुनिंदा गलत जानकारी' मुहैया कराते थे.

इमेज कॉपीरइट AP

हरभजन ने समाचार एजेंसी पीटीआई से कहा, "चैपल ने भारतीय क्रिकेट को इस हद तक बर्बाद कर दिया था कि इसे वापस पटरी पर आने में कम से कम तीन साल लग गए."

यह पूछे जाने पर वे कौन से खिलाड़ी थे, जो चैपल को 'ग़लत जानकारियां' दे रहे थे, हरभजन ने कहा, "जब सही समय आएगा, नाम उजागर हो जाएगा."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार