बॉक्सिंग डे टेस्ट: नॉक आउट या बचेगी नाक?

  • 25 दिसंबर 2014
भारत ऑस्ट्रेलिया टेस्ट क्रिकेट इमेज कॉपीरइट AFP

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच शुक्रवार से मेलबर्न में चार टेस्ट मैचों की सिरीज़ का तीसरा मुक़ाबला खेला जाएगा.

सिरीज़ में 2-0 की अजेय बढ़त हासिल करने के बाद मेजबान आधी लडाई पहले ही जीत चुके हैं. भारतीय टीम के पास टेस्ट सिरीज़ में वापसी का यह आख़िरी मौका है.

पिछले दो मुक़ाबलों में भारत के लिए सबसे कमज़ोर कड़ी साबित हुए हैं उसके गेंदबाज़. आलम यह है कि भारतीय गेंदबाज़ ऑस्ट्रेलिया को सिर्फ़ एक ही पारी में पूरी तरह समेट सके हैं.

गेंदबाज़ों की पिटाई

इमेज कॉपीरइट AFP

60 टेस्ट मैच खेल चुके तेज़ गेंदबाज़ ईशांत शर्मा का यह तीसरा ऑस्ट्रेलियाई दौरा है.

उन्हें पिछले दो मुक़ाबलों में सात विकेट तो मिले हैं, लेकिन इसके लिए उन्हें 401 रन लुटाने पड़े.

वरुण एरोन, मोहम्मद शमी, उमेश यादव, आर अश्विन और करन शर्मा भी महंगे ही साबित हुए हैं.

नई उम्मीद

इमेज कॉपीरइट AFP

बल्लेबाज़ी में विराट कोहली ने पहले टेस्ट मैच की दोनों पारियों में शतक जमाकर नई उम्मीद जगाई थी.

लेकिन दूसरे टेस्ट मैच में उनका बल्ला ख़ामोश रहा. साथ ही चेतेश्वर पुजारा के बल्ले का लगातार रनों के लिए तरसना भारतीय टीम पर भारी पड़ रहा है.

शिखर धवन और उनकी चोट से उपजा विवाद अब भी पहेली ही बना है, वहीं वनडे में दो-दो डबल सेंचुरी जड़ चुके रोहित शर्मा के आउट होने के तरीकों से सभी हैरान हैं.

हालाँकि सलामी बल्लेबाज़ मुरली विजय ने अभी तक सबसे बेहतरीन खेल दिखाया है.

पहली पारी बेहतर

इमेज कॉपीरइट AFP

भारत ने अभी तक चार पारियों में तीन बार 400 और एक बार 300 से अधिक रन बनाए हैं, इससे यह तो साबित होता है कि टीम ठीक-ठाक खेल रही है.

लेकिन अच्छा स्कोर खड़ा करने के बाद यकायक विकेटों का ताश के पत्तों की तरह गिरना मुश्किल में डालने वाला है.

जहाँ तक अंपायरिंग का सवाल है तो कई निर्णय भारत के ख़िलाफ़ गए हैं, हालाँकि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड का यूडीआरएस (अंपायर के निर्णय के खिलाफ अपील करना) पर अब भी भरोसा नहीं है.

जहाँ तक मेलबर्न में रिकॉर्ड की बात है, तो भारत ने मेलबर्न में साल 1981 के बाद से कोई टेस्ट मैच नही जीता है.

तब सुनील गावस्कर की कप्तानी में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को महज़ 83 रन पर ढेर कर दिया था, जबकि उसके सामने जीत के लिए 143 रनों का लक्ष्य था.

लगातार हार

इमेज कॉपीरइट AFP

इससे पहले, भारत ने मेलबर्न में ही ऑस्ट्रेलिया को साल 1977-78 में खेली गई सिरीज़ में बिशन सिंह बेदी की कप्तानी में 222 रन से हराया था.

1985 में मेलबर्न में खेला गया मुक़ाबला ड्रॉ रहा था और उसके बाद से वह यहां लगातार पांच मैच हार चुका है.

भारत ने मेलबर्न में अभी तक 11 टेस्ट मैच में से 8 हारे हैं 3 जीते हैं और एक ड्रॉ रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार