विश्व कप का सरताज, सचिन तेंदुलकर

सचिन तेंदुलकर इमेज कॉपीरइट AP

सचिन तेंदुलकर विश्व कप क्रिकेट के इतिहास में सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज़ हैं.

ऑस्ट्रेलिया और न्यूज़ीलैंड में 1992 का विश्व कप उनका पहला विश्व कप था.

तब से 2011 तक उन्होंने लगातार छह विश्व कप खेले और कुल मिलाकर 56.95 के औसत से 2,278 रन बनाए. विश्व कप में उनके नाम कुल छह शतक भी हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

यानी ये 23 सालों में पहला मौक़ा है जब क्रिकेट प्रशंसकों को विश्व कप में सचिन तेंदुलकर खेलते नहीं दिखेंगे.

एक नज़र हर विश्व कप में सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्ड पर.

1992 विश्व कप (ऑस्ट्रेलिया-न्यूज़ीलैंड)

ये सचिन तेंदुलकर का पहला विश्व कप था.

ऑस्ट्रेलिया और न्यूज़ीलैंड की उछाल भरी पिचों पर 19 साल के सचिन ने कुल कुल आठ मैचों में 47.16 के औसत से 283 रन बनाए थे. उनका स्ट्राइक रेट 84.73 रहा. उन्होंने कुल तीन अर्धशतक भी जमाए और उनका उच्चतम स्कोर रहा 84.

1996 विश्व कप (भारत, पाकिस्तान, श्रीलंका)

इस विश्व कप में सचिन तेंदुलकर शानदार फ़ॉर्म में रहे.

उन्होंने कुल सात मैचों में 87.16 के औसत से 523 रन बनाए. उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर रहा 137 और स्ट्राइक रेट रहा 85.87. सचिन ने दो शतक और तीन अर्धशतक भी जमाए.

टूर्नामेंट के सेमीफ़ाइनल में श्रीलंका के ख़िलाफ़ सचिन ने ईडन गार्डंस की स्पिन लेती पिच पर बेहतरीन तकनीक का परिचय देते हुए 65 रन बनाए.

लेकिन उनके आउट होते ही भारतीय पारी ढह गई और भारत का विश्व कप सफ़र ख़त्म हो गया.

1999 विश्व कप (इंग्लैंड)

इमेज कॉपीरइट Getty Allsport

ये विश्व कप सचिन तेंदुलकर के लिए निजी कारणों से ग़मगीन रहा.

टूर्नामेंट के दौरान ही उनके पिता का देहांत हो गया और सचिन को भारत वापस आना पड़ा.

लेकिन जल्द ही वो टूर्नामेंट में लड़खड़ाती भारतीय टीम को सहारा देने वापस आए और कीनिया के ख़िलाफ़ मैच में अपने ग़म से उबरते हुए बेहतरीन 140 रन बनाए.

हालांकि बाद में वो अपनी फ़ॉर्म जारी नहीं रख सके और भारत सुपर सिक्स राउंड से आगे नहीं बढ़ पाया.

सचिन ने इस विश्व कप में सात मैच खेलकर 42.16 के औसत से 253 रन बनाए. उनका स्ट्राइक रेट 90.03 रहा.

2003 विश्व कप (दक्षिण अफ़्रीका)

इमेज कॉपीरइट AP

एक बार फिर सचिन तेंदुलकर ने दिखाया कि क्यों उन्हें विश्व के बेहतरीन बल्लेबाज़ों में से एक माना जाता है.

उन्होंने इस टूर्नामेंट के 11 मैचों में 61.18 के औसत से 673 रन बनाए. उनका उच्चतम स्कोर रहा 152 और स्ट्राइक रेट रहा 89.25. उन्होंने एक शतक और छह अर्धशतक भी जमाए.

भारतीय टीम को फ़ाइनल तक पहुंचाने में उनका ख़ासा योगदान रहा.

लेकिन ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ जोहानिसबर्ग में खेले गए फ़ाइनल में वो सिर्फ़ चार बनाकर आउट हो गए थे.

2007 विश्व कप (वेस्ट इंडीज़)

भारत और सचिन तेंदुलकर दोनों के लिए ये विश्व कप बड़ा निराशाजनक साबित हुआ.

भारत पहले ही दौर में बाहर हो गया.

सचिन ने तीन मैचों में 32 के मामूली औसत से सिर्फ़ 64 रन बनाए.

2011 विश्व कप (भारत, बांग्लादेश, श्रीलंका)

इमेज कॉपीरइट Associated Press Archive

इस विश्व कप में सचिन तेंदुलकर के बचपन का सपना पूरा हुआ और वो विश्व कप ट्रॉफ़ी जीतने वाली भारतीय टीम का हिस्सा बने.

ये पहला मौक़ा था जब किसी मेज़बान देश ने विश्व कप जीता हो.

इमेज कॉपीरइट AFP

सचिन तेंदुलकर ने कुल नौ मैचों में 53.55 के औसत से 524 रन बनाए. उनका उच्चतम स्कोर रहा 120.

हालांकि श्रीलंका के ख़िलाफ़ फ़ाइनल मैच में वो महज़ 18 रन ही बना पाए थे.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)