'यही असल में फ़ाइनल, बाकी सब बेकार'

  • 14 फरवरी 2015
भारत और पाकिस्तान के क्रिकेट प्रशंसक

ऑस्ट्रेलिया और न्यूज़ीलैंड की संयुक्त मेज़बानी में वन-डे क्रिकेट का महाकुंभ शुरू हो चुका है और रविवार को एडिलेड में भारत का मुक़ाबला पाकिस्तान से है.

इस छोटे मगर ख़ूबसूरत शहर में हर तरफ़ सिर्फ़ पाकिस्तान और भारतीय टीम की पोशाकों में प्रशंसक दिख रहे हैं.

हालाँकि इस शहर का नाम क्रिकेट इतिहास में पहले से ही दर्ज है, क्योंकि सर डोनल्ड ब्रैडमैन ने फ़र्स्ट क्लास क्रिकेट खेलना यहीं से शुरू किया था और उनका घर भी यहीं है.

दुनियाभर से पहुंचे प्रशंसक

एडिलेड के निवासी भारत-पाकिस्तान मैच की तैयारियों को देख कर हैरान हैं, क्योंकि इस मैच की टिकटें लगभग छह महीने पहले ही बिक चुकीं थीं.

दुनियाभर में इन्हे ऑनलाइन खरीदने वाले अब एडिलेड की धरती पर उतर रहे हैं.

हर्षित देसाई और वैजू शाह को मुंबई से सीधी फ़्लाइट नहीं मिली तो वे सिंगापुर में रात बिताकर एडिलेड पहुँचे.

वैजू शाह ने बताया, "हम सिर्फ भारत-पाक मैच के ही लिए आए हैं. देखकर वापस चले जाएंगे, क्योंकि यही असल में फ़ाइनल है, बाकी सब बेकार है".

एडिलेड ओवल स्टेडियम में शनिवार सुबह जब टीम इंडिया नेट प्रैक्टिस कर रही थी तब सैंकड़ों प्रशंसक बाहर जमा थे.

इनमें से कुछ अकरम सईद जैसे पाकिस्तानी फ़ैन भी थे जो कनाडा से पधारे हैं.

'ट्रॉफ़ी दक्षिण एशिया में ही रहे'

अकरम कहते हैं, "जीते चाहे कोई भी, मैच अच्छा होना चाहिए. हम चाहते हैं विश्व कप ट्रॉफी दक्षिण एशिया के बाहर नहीं जाए."

एडिलेड ओवल मैदान के बाहर मैच के एक दिन पहले भी जलसे जैसा माहौल है.

प्रशंसक नाच-गा रहे हैं और अपनी टीमों की दाद देते नहीं थक रहे.

जज़्बे को सलाम

बिलाल अहमद सिर्फ़ इस मैच को देखने लाहौर से आ पहुंचे हैं.

उन्होंने बताया, "मुझे उम्मीद यहाँ लाई है कि इस बार आखिरकार पाकिस्तान वर्ल्ड कप में भारत को हरा देगा".

इमेज कॉपीरइट Both Photos by AFP

एडिलेड शहर भी क्रिकेट के इस जज़्बे को सलाम कर रहा है.

शहर के विभिन्न शॉपिंग स्थलों में क्रिकेट विश्व कप से जुड़े कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं.

ज़ाहिर है, ऐसे माहौल में चीज़ों के दाम भी सातवें आसमान पर हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार