पाकिस्तान 100 फ़ीसदी तैयार नहीं: अफ़रीदी

  • 15 फरवरी 2015
शाहिद अफरीदी इमेज कॉपीरइट AFP GETTY

विश्व कप क्रिकेट टूर्नामेंट में रविवार को दुनिया की दो पारंपरिक प्रतिद्वंदी टीमें भारत और पाकिस्तान एडीलेड में आमने-सामने होंगी.

दोनों टीमों के खिलाड़ियों के दिलों की धड़कनें भी बढ़ी हुई हैं, बीबीसी उर्दू सर्विस के आदिल शाहज़ेब ने पाकिस्तान के स्टार आलराउंडर शाहिद अफ़रीदी से ख़ास बातचीत की.

अफ़रीदी ने विश्व कप के लिए पाकिस्तान की तैयारी को लेकर कहा कि अगर ऑस्ट्रेलिया और न्यूज़ीलैंड में खेले गए अभ्यास मैचों को देखें तो टीम का प्रदर्शन प्रभावशाली नहीं रहा है.

जब आप इतने बड़े टूर्नामेंट में दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीमों के ख़िलाफ़ खेलते हैं तब आप हमेशा अपनी कमियों को जानने और उनमें सुधार की कोशिश करते हैं. मैं नहीं मानता कि हम 100 फ़ीसदी तैयार हैं.

चुनौतीपूर्ण

इमेज कॉपीरइट AP

आज टीम हर तरह से जीतने की कोशिश करती हैं, क्रिकेट पहले के मुक़ाबले बेहद चुनौतीपूर्ण हो गया हैं.

उसे देखते चाहे कहीं भी कोई कमी हो, बल्लेबाज़ी, फ़ील्डिंग या फिर गेंदबाज़ी में उसे दूर करने की हर मुमकिन कोशिश करनी चाहिए.

विश्व कप की सबसे बड़ी दावेदार टीम के सवाल को लेकर अफ़रीदी का मानना हैं कि हर चार साल में होने वाले इस मुक़ाबले के लिए सभी टीमें पूरी तैयारी से आती हैं.

इससे पहले भी कमज़ोर टीमों ने बड़ी टीमों को हराकर उलटफेर किए हैं इसलिए किसी को भी कम नहीं आंका जा सकता.

ऑस्ट्रेलिया को देखें तो पुराने रिकॉर्ड के आधार पर उनका प्रदर्शन बेहद शानदार रहा हैं.

निश्चित रूप से न्यूज़ीलैंड एक बड़ी टीम के रूप में उभरी हैं, यही बात दक्षिण अफ्रीका के बारे में कही जा सकती हैं.

रिकॉर्ड

इमेज कॉपीरइट AFP

विश्व कप के इतिहास में पाकिस्तान अभी तक भारत को हरा नहीं सका हैं, क्या इस बार पाकिस्तान जीत पाएगा?

इसे लेकर अफ़रीदी का मानना हैं कि तैयार नहीं हैं तो होना पड़ेगा. भारत-पाकिस्तान मैच महत्वपूर्ण तो है ही क्योंकि दर्शकों को इसमें बेहद आनंद आता हैं.

यहां तक कि अगर कोई क्रिकेट को पसंद भी नहीं करता तब भी वह अक्सर इस मैच को ज़रूर देखता हैं. हम मैच जीतने की पूरी कोशिश करेंगे. सभी खिलाड़ी मन लगाकर खेले तो अच्छा होगा.

अब एकदिवसीय क्रिकेट में सबसे तेज़ शतक का रिकॉर्ड अफ़रीदी के नाम नहीं हैं, क्या अपने आख़िरी विश्व कप में इस रिकॉर्ड को दोबारा अपने नाम करने की कोशिश करेंगे.

इस पर अफ़रीदी ने कहा कि कोई भी खिलाड़ी सोचकर रिकॉर्ड बनाने की कोशिश नहीं करता.

सबसे तेज़ शतक का रिकॉर्ड 17 साल मेरे नाम रहा. यह मेरे लिए बहुत बड़ी बात रही. मैं समझता हूं कि मेरा खेल टीम के काम आए.

पाकिस्तान की टीम बड़ी टीमों के मुक़ाबले कमज़ोर दिख रही है.

दारोमदार

इमेज कॉपीरइट AP

सईद अजमल और मोहम्मद हफीज़ के गेंदबाज़ी एक्शन का मामला हो या फिर फ़िटनेस हो, टीम पहले जैसी नहीं लग रही.

इसके जवाब में अफ़रीदी का मानना हैं कि पिछले कुछ समय से पाकिस्तान की गेंदबाज़ी का दारोमदार स्पिनरों पर ही रहा हैं. फिर चोट से खिलाड़ी परेशान हो गए. अब तेज़ और स्पिन गेंदबाज़ों को मेहनत करनी पड़ेगी.

जब उनसे पूछा गया कि सिडनी में होटल में देर से आने पर आठ खिलाड़ियों पर क्यों ज़ुर्माना किया गया?

इस पर उन्होंने कहा कि देखिए एक होटल में खाना खाने गए थे देर हो गई कोई ऐसी-वैसी बात नहीं थी. मीडिया को इसे बड़ा नहीं बनाना चाहिए.

अफ़रीदी मानते हैं कि मीडिया के पास जब कोई ख़बर ना हो तो वह ऐसी बात करता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार