जब था ऑस्ट्रेलिया दमदार, बाकी लाचार

फ़ाइल फोटो इमेज कॉपीरइट AP

विश्व कप क्रिकेट से जुड़ी दास्तां में 1999, 2003 और 2007 की कहानी.

उस वक़्त विश्व क्रिकेट में ऑस्ट्रेलिया का दबदबा हो गया था और दुनिया की कोई भी टीम उसे हराने के बारे में सिर्फ़ सोच ही सकती थी.

1999 में एक बार फिर विश्व कप की मेजबानी इंग्लैंड को मिली. 12 टीमों को छह-छह के दो ग्रुपों में बाँटा गया. लेकिन अगले दौर में जाने का मौक़ा मिला सिर्फ़ छह टीमों को यानी हर ग्रुप की शीर्ष तीन टीमें.

अगला दौर कहलाया सुपर सिक्स और इस दौर में एक ग्रुप की सभी तीन टीमों को दूसरे ग्रुप की सभी तीन टीमों से मैच खेलना पड़ा.

इमेज कॉपीरइट AFP

फिर अंकों के आधार पर चार टीमें सेमीफ़ाइनल में पहुँचीं. ग्रुप ए से दक्षिण अफ़्रीका, भारत और ज़िम्बाब्वे की टीम सुपर सिक्स में पहुँची, तो ग्रुप बी से मौक़ा मिला- पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया और न्यूज़ीलैंड को.

सुपर सिक्स में भारत पाकिस्तान से तो जीत गया लेकिन ऑस्ट्रेलिया और न्यूज़ीलैंड ने उसे हरा दिया और भारतीय टीम सेमी फ़ाइनल में नहीं पहुँच पाई.

इमेज कॉपीरइट GETTY IMAGES

पाकिस्तान के अलावा न्यूज़ीलैंड, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ़्रीका ने सेमी फ़ाइनल में जगह बनाई. सईद अनवर के शानदार शतक की बदौलत पाकिस्तान ने न्यूज़ीलैंड को हराकर फ़ाइनल में जगह बनाई.

ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ़्रीका के बीच दूसरा सेमी फ़ाइनल अति रोमांचक रहा. साँस रोक देने वाले इस मैच में नतीजा तो टाई रहा. लेकिन सुपर सिक्स में रन गति के आधार पर दक्षिण अफ़्रीका से आगे रहने के कारण ऑस्ट्रेलिया को फ़ाइनल में जगह मिली.

लॉर्ड्स में हुआ फ़ाइनल मैच एकतरफ़ा रहा और ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान को आठ विकेट से हराकर विश्व कप का ख़िताब अपने नाम किया.

2003 विश्व कप

इमेज कॉपीरइट GETTY

वर्ष 2003 का विश्व कप दक्षिण अफ़्रीका में आयोजित किया गया. साथ ही ज़िम्बाब्वे और कीनिया में भी कुछ मैच खेले गए.

पहली बार विश्व कप में 14 टीमों ने हिस्सा लिया. सात-सात टीमों को दो ग्रुपों में बाँटा गया. हर ग्रुप से शीर्ष तीन टीमों को सुपर सिक्स में जगह मिली और फिर चार टीमें सेमी फ़ाइनल में पहुँचीं.

ग्रुप मैचों में ग्रुप ए से ज़िम्बाब्वे और ग्रुप बी से कीनिया का सुपर सिक्स में पहुँचना सबसे बड़ी घटना थी. इंग्लैंड, पाकिस्तान, दक्षिण अफ़्रीका और वेस्टइंडीज़ की टीमें पहले दौर में ही प्रतियोगिता से बाहर हो गईं.

भारत और ऑस्ट्रेलिया के अलावा श्रीलंका भी सेमी फ़ाइनल में पहुँचा. भारत का मुक़ाबला कीनिया से हुआ और ऑस्ट्रेलिया की टीम श्रीलंका से भिड़ी.

इमेज कॉपीरइट Getty

पहले सेमी फ़ाइनल में ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका के बीच ज़ोरदार टक्कर हुई. ऑस्ट्रेलिया पहले खेलते हुए 212 रन ही बना पाई. लेकिन ऑस्ट्रेलिया के तेज़ गेंदबाज़ों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया.

बारिश के कारण डकवर्थ लुईस नियम के तहत श्रीलंका की टीम 48 रन से हार गई. श्रीलंका ने 38.1 ओवर में सात विकेट पर 123 रन ही बनाए थे.

दूसरे सेमी फ़ाइनल में भारत और कीनिया का मुक़ाबला हुआ.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

सौरभ गांगुली और सचिन तेंदुलकर की शानदार बल्लेबाज़ी की बदौलत भारत ने 91 रनों से आसान जीत दर्ज कर दूसरी बार विश्व कप के फ़ाइनल में जगह बनाई. लेकिन 20 साल बाद विश्व कप के फ़ाइनल में पहुँची भारतीय टीम की फ़ाइनल में दुर्दशा हुई.

ऑस्ट्रेलिया ने पहले खेलते हुए 359 रनों का विशाल लक्ष्य खड़ा किया. जवाब में भारत की पूरी टीम 234 रन पर आउट हो गई. ऑस्ट्रेलिया ने लगातार दूसरी बार विश्व कप पर क़ब्ज़ा किया.

2007 विश्व कप

इमेज कॉपीरइट AP

वर्ष 2007 का विश्व कप क्रिकेट वेस्टइंडीज़ में खेला गया.

इस विश्व कप में 16 टीमों ने हिस्सा लिया, जिन्हें चार-चार के चार ग्रुपों में बाँटा गया.

हर ग्रुप से दो-दो शीर्ष टीमें सुपर-8 में पहुँचीं और सुपर-8 की चार शीर्ष टीमें सेमी फ़ाइनल में. इस विश्व कप में 10 शीर्ष टीमों के साथ-साथ कीनिया, स्कॉटलैंड, नीदरलैंड्स, आयरलैंड, कनाडा और बरमूडा ने हिस्सा लिया.

इस विश्व कप का सबसे बड़ा उलटफेर उस समय हुआ जब ख़िताब की तगड़ी दावेदार मानी जाने वाली भारत और पाकिस्तान की टीमें पहले ही दौर में प्रतियोगिता से बाहर हो गईं. दोनों टीमें सुपर-8 में भी नहीं पहुँच पाईं. भारत की टीम अपने तीन लीग मैचों में से दो हार गई. उसे बांग्लादेश और श्रीलंका ने हरा दिया.

इमेज कॉपीरइट Getty

कुछ ऐसा ही हाल रहा पाकिस्तान का, जब पाकिस्तान की टीम मेज़बान वेस्टइंडीज़ के साथ-साथ आयरलैंड से भी हार गए. आयरलैंड के हाथों मिली हार के दूसरे दिन पाकिस्तानी कोच बॉब वूल्मर का निधन विश्व कप की एक दुखद घटना रही.

वर्ष 1996 के विश्व कप की तरह इस बार भी फ़ाइनल में ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका की टीमें आमने-सामने थी. लेकिन उस बार श्रीलंका ने ऑस्ट्रेलिया को पटखनी देकर ख़िताब पर कब्ज़ा किया था. लेकिन इस बार अलग कहानी लिखी गई.

इमेज कॉपीरइट Getty

बारिश के कारण मैच सिर्फ़ 38 ओवर का कर दिया गया. ऑस्ट्रेलिया ने पहले खेलते हुए 38 ओवर में चार विकेट पर 281 रन बनाए. श्रीलंका की टीम 36 ओवर में 215 रन ही बना सकती और 53 रनों से मैच हार गई.

इस तरह ऑस्ट्रेलिया ने लगातार तीन बार विश्व कप जीतकर हैट्रिक बनाई.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार