मैदान पर छींटाकशी तो होगी हीः क्लार्क

रोहित शर्मा और मिचेल क्लार्क इमेज कॉपीरइट Getty AP

भारत के ओपनिंग बल्लेबाज़ रोहित शर्मा का कहना है कि गुरुवार को आस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ सेमीफ़ाइनल में भारत किसी चीज़ से नहीं डर रहा, चाहे सिडनी की पिच तेज़ गेंदबाज़ों के लिए माकूल हो या स्पिनरों के लिए.

पिछले हफ़्ते सिडनी में हुए क्वार्टर फ़ाइनल मैच में दक्षिण अफ़्रीका के स्पिनरों ने श्रीलंका के सात विकेट चटकाए थे.

लेकिन रोहित ज़ोर देकर कहते हैं, "हमें यक़ीन है कि हम किसी भी जगह पर अच्छा प्रदर्शन करेंगे."

इमेज कॉपीरइट

उन्होंने कहा, "हमने सात मैचों में 70 विकेट लिए हैं और हर बार विरोधी टीम को पूरा आउट किया है. इसलिए हमें पता है कि हमें क्या करना है. हम किसी भी चीज़ के लिए तैयार हैं."

'मैदान में गर्मागर्मी'

सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (एससीजी) भारत के लिए सफलता वाला नहीं रहा है और ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ 35 सालों में खेले गए 13 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में उसे सिर्फ़ एक सफलता मिली है.

मैदान पर भारत और ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों में बहुत दोस्ताना संबंध नहीं रहे हैं. 2008 में हरभजन सिंह और एंड्रू साइमंड्स के बीच 'रंगभेदी टिप्पणी' से लेकर इन सर्दियों में भारत के ऑस्ट्रेलिया दौरे में कई तीखे विवादों तक.

बीते दिसंबर में एक टेस्ट मैच के दौरान मिचेल जॉनसन के विराट को 'बिगड़ैल लड़का' कहने के बाद विराट ने कहा था कि "वह जॉनसन की इज़्ज़त नहीं करते."

इमेज कॉपीरइट Reuters

इसके बाद जनवरी में डेविड वॉर्नर रोहित शर्मा से भिड़ गए और मैदान पर गर्मागरम बहसे के दौरान ऑस्ट्रेलियाई ओपनर ने रोहित को 'अंग्रेज़ी बोलने' को कहा.

'छींटाकशी तो होगी'

आईसीसी के टूर्नामेंट से पहले खिलाड़ियों के बर्ताव को लेकर सख़्ती दिखाने के बावजूद गुरुवार को होने वाले मैच में कोई भी पक्ष पीछे हटने को तैयार नहीं दिखता.

क्लार्क ने कहा, "मैच में छींटाकशी होगी, छेड़खानी होगी."

उन्होंने कहा, "डेविड (वॉर्नर) नियम जानते हैं, जैसे कि हम सब जानते हैं. और उसके नियम वही हैं जो हम सबके हैं. हम अपना सर्वश्रेष्ठ खेल दिखाने के लिए जो हो सकेगा करेंगे."

रोहित इससे सहमत हैं, "यह खेल का हिस्सा है. अगर थोड़ी-बहुत छेड़खानी होती है तो होती रहे. मुझे उम्मीद है कि यह हद से ज़्यादा नहीं होगी."

वह कहते हैं, "बतौर पेशेवर क्रिकेटर हम सब जानते हैं कि कुछ सीमाएं हैं, जिन्हें हमें पार नहीं करना चाहिए. इसलिए अगर सीमाओं के अंदर कुछ होता है तो वह ठीक है."

'नंबर एक टीम'

ऑस्ट्रेलियाई कप्तान क्लार्क कहते हैं, "जिस तरह हम क्वार्टर फ़ाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ़ खेले, वह बहुत बेहतर था. भारत अपने खेल के शीर्ष पर है. वह बहुत अच्छी टीम है जिसने पिछला विश्व कप जीता है, लेकिन हम उनके लिए तैयार हैं."

वो कहते हैं, "हमसे उम्मीदें इसलिए हैं क्योंकि हम एक-दिवसीय क्रिकेट में दुनिया की नंबर वन टीम हैं."

इमेज कॉपीरइट Getty

रोहित कहते हैं, "ऑस्ट्रेलिया की बैटिंग अच्छी है, लेकिन जब पाकिस्तान और न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ उन्हें अच्छी गेंदबाज़ी का सामना करना पड़ा तो उन्हें संघर्ष करना पड़ा है."

उन्होंने कहा, "उन्होंने गेंदबाज़ी भी अच्छी की है, लेकिन फिर हमने भी अच्छी बल्लेबाज़ी की है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार