दिल्ली और मुंबई की हालत एक जैसी

  • 23 अप्रैल 2015
मुंबई इंडियंस इमेज कॉपीरइट PTI

आईपीएल-8 में गुरुवार को केवल एक ही मुक़ाबला खेला जाएगा.

दिल्ली अपने ही मैदान फ़िरोज़शाह कोटला में मुंबई इंडियंस के ख़िलाफ़ अपना दम-ख़म दिखाएगी.

लगातार 11 मैच हारने के बाद दिल्ली ने किंग्स इलेवन पंजाब को पांच विकेट से और उसके बाद सनराइजर्स हैदराबाद को चार रन से हराया तो लगा कि इस टीम ने जीत की लय हासिल कर ली है.

(पढ़ें- क्या राजस्थान जीत का छक्का लगाएगा)

दिल्ली के दिल की खुशी अगले ही मुक़ाबले में फिर दुख में बदल गई जब कोलकाता नाइटराइडर्स ने उसे बेहद आसानी से छह विकेट से मात दी.

जीत हासिल

इमेज कॉपीरइट PTI

दिल्ली अभी तक चार में से दो मैच जीती है और दो में उसे जीत हासिल हुई है. दूसरी तरफ़ मुंबई इंडिंयस की कहानी भी कम दिलचस्प नही है.

(पढ़ें- दिल्ली और कोलकाता में जंग)

रोहित शर्मा की कप्तानी में खेल रही इस टीम ने इस सीज़न में लगातार चार मैच गंवाने के बाद आखिरकार रॉयल चैलेंजर्स बंगलौर को 18 रन से हराया.

मुंबई ने पहली बार अपनी प्रतिष्ठा के अनुरूप प्रदर्शन करते हुए निर्धारित 20 ओवर में सात विकेट खोकर 209 रन बनाए.

सलामी बल्लेबाज़

इमेज कॉपीरइट PTI

इस जीत में सलामी बल्लेबाज़ लेंडल सिमंस ने 59 और उन्मुक्त चंद ने 58 रनों का योगदान दिया.

(पढ़ें- राजस्थान को मिली जीत)

रोहित शर्मा ने भी केवल 15 गेंदों पर तीन चौके और चार छक्के लगाते हुए 42 रन बनाकर समां बांधा.

इसके बाद गेंदबाज़ों ने भी क्रिस गेल, विराट कोहली और दिनेश कार्तिक को सस्ते में निबटाकर बंगलौर को सात विकेट पर 191 रनों पर रोका.

जादुई स्पेल

इमेज कॉपीरइट PTI

हरभजन सिंह ने गेंद से चमकते हुए 27 रन देकर तीन विकेट लिए.

(पढ़ें- जीत के लिए तरसती दिल्ली)

इससे पहले उन्होंने पंजाब के ख़िलाफ़ 64 रन बनाकर सबको दांतो तले अंगुली दबाने को मजबूर कर दिया था.

इसके बावजूद मुंबई की चिंता मलिंगा को लेकर भी हैं जो पांच मैच में पांच विकेट ही ले सके हैं. उनके जादुई स्पेल का इंतज़ार है.

स्टार खिलाड़ी

इमेज कॉपीरइट Other

वहीं दिल्ली के सबसे बड़े स्टार खिलाड़ी युवराज सिंह को बल्लेबाज़ी में लगातार अजीबोग़रीब तरह से इस्तेमाल किया जा रहा है.

(पढ़ें- सनराइजर्स ने बंगलौर की बोलती बंद की)

चेन्नई के ख़िलाफ़ वह चौथे नम्बर पर बल्लेबाज़ी करने आए और केवल नौ रन बना सके.

पिछले मैच में कोलकाता के ख़िलाफ वह तीसरे नम्बर पर आए और 21 रन बनाकर स्टम्प हुए. पंजाब के ख़िलाफ़ वह दूसरे नम्बर पर आए और जमकर 54 रन बनाए.

टीमें बराबर

इमेज कॉपीरइट pti

अब अगर उनकी बल्लेबाज़ी क्रम में इतने बदलाव किए जाएंगे तो वह मानसिक रूप से कैसे अपने आपको तैयार करेंगे.

इसके अलावा कभी मंयक अग्रवाल चमकते हैं तो कभी कप्तान जेपी डूमिनी. एंजलो मैथ्यूज़ भी एक ऑलराउंडर के तौर पर अधिक नही चले हैं.

गेंदबाज़ी में ज़हीर खान की फ़िटनेस धोखा दे गई है तो मोहम्मद शमी भी चोटिल होकर बाहर हो चुके हैं.

रणनितिक तौर पर मार खा रही दिल्ली ऐसे में मुंबई का सामना कैसे करेगी. आंकड़ो में अभी तक दोनों टीमें बराबर हैं.

14 बार आईपीएल में आमने-सामने हो चुकी दोनों टीमें 7-7 मुक़ाबले जीतने में कामयाब रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार