मुंबई और पंजाब दोनों का जादू ग़ायब

  • 3 मई 2015
केरोन पोलार्ड इमेज कॉपीरइट PTI

आईपीएल-8 में रविवार को भी दो मुक़ाबले खेले जाएंगे. पहले मैच में मुंबई इंडियंस मोहाली में मेज़बान किंग्स इलेवन पंजाब का सामना करेगी.

दूसरे मुक़ाबले में राजस्थान रॉयल्स का सामना दिल्ली डेयरडेविल्स से होगा.

पिछले सीज़न में धूम मचाने वाली पंजाब की टीम तो मानो इस बार नाम की ही किंग्स इलेवन रह गई है. अभी तक वह 8 में से केवल 2 मैच ही जीत सकी है और 6 में उसे हार का सामना करना पड़ा है.

दूसरी तरफ मुंबई की हालत पंजाब से बस थोड़ी सी ही बेहतर है. वह 8 मैच खेलकर पंजाब से बस एक अधिक यानि तीन मैच जीत सकी है और पांच में उसे हार का सामना करना पड़ा है.

सहवाग

इमेज कॉपीरइट PTI

दिल्ली डेयरडेविल्स के ख़िलाफ पिछले मुक़ाबले में तो पंजाब की यह हालत थी कि एक समय उसके 4 विकेट केवल 10 रन पर गिर चुके थे.

यहां तक कि वह निर्धारित 20 ओवर में जैसे-तैसे 8 विकेट खोकर 118 रन ही बना सकी.

सलामी बल्लेबाज़ वीरेंद्र सहवाग केवल एक रन बना सके.

इससे पहले चेन्नई और राजस्थान के ख़िलाफ भी वह केवल एक-एक रन ही बना सके थे.

शॉन मार्श भी केवल राजस्थान के ख़िलाफ चलकर रह गए. तब उन्होंने 65 रन बनाए थे.

बल्लेबाजी

इमेज कॉपीरइट AFP

उसके बाद वह चेन्नई के ख़िलाफ 10, हैदराबाद के ख़िलाफ 1 और दिल्ली के ख़िलाफ केवल 5 रन बना सके हैं.

पंजाब के तीसरे अहम बल्लेबाज़ डेविड मिलर भी अभी तक केवल दो मैच में कुछ ठीक-ठाक खेल सके हैं.

उन्होंने राजस्थान के ख़िलाफ 54 और दिल्ली के ख़िलाफ पिछले मैच में 42 रन बनाए.

बाकी मैचों में उनका बल्ला नहीं चला. जब किसी टीम की बल्लेबाज़ी के तुरूप के तीनों इक्के भी पिट जाएं तो फिर उसे कौन बचाए.

मुंबई का भी क़रीब वही हाल

दूसरी तरफ मुंबई इंडियंस ने पिछले मैच में राजस्थान रॉयल्स को 8 रन से मात दी.

मुंबई ने पहले खेलकर 187 रन जैसा बड़ा स्कोर बनाया. मुंबई के अंबाती रायडू ने नाबाद 53 रन बनाए.

उनका बल्ला बोला तो कुछ रन भी बने. यह उनका इस सीज़न में पहला अर्द्ध शतक रहा.

इमेज कॉपीरइट PTI

कीरेन पोलार्ड अपनी आलराउंडर की भूमिका सही तरह से निभा रहे हैं तो कप्तान रोहित शर्मा छोटे-छोटे स्कोर तो बना रहे हैं, लेकिन बड़ी पारी केवल कोलकाता और चेन्नई के ख़िलाफ ही खेल सके हैं.

कोलकाता के ख़िलाफ उन्होंने नाबाद 98 और चेन्नई के ख़िलाफ 50 रन बनाए थे.

लसिथ मलिंगा और अनुभवी हरभजन सिंह के अलावा मैकलंघन पर मुंबई की गेंदबाज़ी का दारोमदार रहेगा.

आंकड़ों में अभी तक दोनों टीमें 15 बार आमने-सामने हुई हैं जिनमें से 8 बार पंजाब और 7 बार मुंबई जीती हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार