कोलकाता भिड़ेगा 'नाम के' किंग्स से

केकेआर के कप्तान गौतम गंभीर इमेज कॉपीरइट GETTY

आईपीएल-8 में शनिवार को दो मैच खेले जाएंगे. पहले मैच में कोलकाता नाइटराइडर्स का सामना किंग्स इलेवन पंजाब से होगा.

दूसरे मैच में दिल्ली डेयरडेविल्स सनराइजर्स हैदराबाद का सामना करेगी.

कोलकाता जब अपने ही मैदान ईडन गार्डंस पर पंजाब के ख़िलाफ उतरेगी तो उसका लक्ष्य जीत की लय को बनाए रखना होगा.

कोलकाता ने अपने पिछले मैच में दिल्ली को आसानी से 13 रन से हराया था. कोलकाता ने दिल्ली के ख़िलाफ़ 7 विकेट खोकर 171 रन बनाए थे.

कोलकाता के सलामी बल्लेबाज़ रोबिन उथप्पा और युसूफ पठान ने कुछ खुलकर हाथ दिखाए.

इमेज कॉपीरइट pti

उथप्पा ने 32 और पठान ने केवल 24 गेंदों पर 3 चौक्के और 3 छक्के लगाते हुए 42 रन बनाए.

वैसे कोलकाता के कप्तान गौतम गंभीर का बल्ला अब फॉर्म में नही हैं. पिछली सात पारियों में उनका सर्वाधिक स्कोर 60 रन है जो उन्होंने दिल्ली के ही ख़िलाफ़ पहले मैच में बनाया था.

इसके अलावा उन्होंने हैदराबाद के ख़िलाफ 31 रन बनाए बाकी पांच मैचों में उनका ख़ास योगदान नहीं रहा.

कोलकाता को अभी भी मनीष पांडेय की भी बड़ी पारी का इंतज़ार है. इस बार उनका सर्वाधिक स्कोर नाबाद 33 रन है.

पिछले मैच में लेग स्पिनर पीयूष चावला ने दिल्ली के चार विकेट चटखाए थे.

कोलकाता नाइटराइडर्स अभी तक 11 में से 6 मैच जीती है और 4 में उसे हार का सामना करना पड़ा है, जबकि उसका एक मैच बारिश के कारण रद्द हुआ.

पंजाब की हालत ख़राब

इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption किंग्स इलेवन पंजाब के तेज़ गेंदबाज़ मिचेल जॉन्सन.

पिछली बार फाइनल में कोलकाता से हारने वाली पंजाब की हालत इस बार सबसे अधिक ख़राब है.

वह अभी तक 10 में से केवल 2 मैच ही जीत सकी है. ऐसे में कोलकाता को पंजाब से बचकर रहना होगा क्योंकि अब पंजाब के पास खोने के लिए कुछ नहीं है.

पंजाब की तो हालत यह है कि पिछले मैच तो वह बैंगलोर के ख़िलाफ़ केवल 13.4 ओवर में ही 88 रनों पर ढेर हो गई.

पंजाब के सलामी बल्लेबाज़ वीरेंदर सहवाग बुरी तरह फ्लॉप हुए तो उन्हें पिछले मैच में टीम से भी बाहर रखा गया, लेकिन टीम के भाग्य पर कोई असर नहीं पड़ा.

मुरली विजय, मैक्सवेल, मिलर और कप्तान जॉर्ज बेली दो अंकों तक भी नहीं पंहुचे तो गेंदबाज़ी में बैंगलोर के सलामी बल्लेबाज़ क्रिस गेल ने उनके सभी गेंदबाज़ों की जमकर ख़बर ली.

इमेज कॉपीरइट Getty

गेल ने 7 चौक्के और 12 छक्के जमाते हुए केवल 57 गेंदो पर 117 रन बनाए.

आंकड़ों में अभी तक दोनों टीमें 16 बार आमने-सामने हुई हैं, जिनमें 10 बार कोलकाता और 6 बार पंजाब जीती है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते है.)

संबंधित समाचार