कोलकाता-राजस्थान दोनों का जीतना ज़रूरी

  • 16 मई 2015
राजस्थान की टीम इमेज कॉपीरइट PTI

आईपीएल-8 में शनिवार को दूसरे मुक़ाबले में डिफेंडिंग चैंपियन कोलकाता नाइट राइडर्स मुंबई में राजस्थान रॉयल्स का सामना करेगी.

अंक तालिका में कोलकाता 13 मैचों में 7 जीत और 15 अंकों के साथ अब भी शीर्ष चार टीमों में जगह बनाए हुए है.

वहीं राजस्थान की टीम के 13 मैचों के बाद 14 अंक है.

ऐसे में दोनो टीमों के लिए जीत ज़रूरी है.

प्लेऑफ की जंग

इमेज कॉपीरइट PTI

यह दोनों टीमों का आखिरी मुक़ाबला भी है. अगर कोलकाता जीत गई तो उसके 17 अंक हो जाएंगे और वह जैसे-तैसे प्ले ऑफ में जगह बना लेगी.

कोलकाता ने अपने लिए थोड़ी मुश्किलें ख़ुद पैदा कीं. पिछले मुक़ाबले में मुंबई इंडियंस के ख़िलाफ वह जीत के दरवाज़े तक पहुंचकर 5 रन से हार गई.

युसूफ पठान अपने ही दम पर टीम की जीत दिलाते नजर आ रहे थे लेकिन मैक्लंघन की गेंद पर उनके कैच आउट होते ही मैच का नक्शा बदल गया.

पियूष चावला 7 गेंदो पर केवल एक रन बना सके. पोलार्ड ने उनकी ऐसी परीक्षा ली कि वह उनकी चार गेंदो पर बल्ला तक नही लगा सके.

फीका पड़ा रंग

इमेज कॉपीरइट PTI

दूसरी तरफ राजस्थान रॉयल्स ने लगातार पांच मैच जीतकर बेहद शानदार शुरूआत की लेकिन उसके दो मैच बारिश की भेट चढ़ गए.

इसके अलावा पिछले मुक़ाबले में उसे चेन्नई के हाथों 12 रनों से हार का सामना करना पडा, जबकि जीत के लिए उसके सामने केवल 157 रनों जैसे छोटा लक्ष्य था.

इससे पहले वह हैदराबाद से भी 7 रनों से हारी थी.

अब राजस्थान के अजिंक्य रहाणे को एक बार फिर अपने बल्ले का दम दिखाना होगा.

शेन वाटसन या फिर स्टीव स्मिथ में से किसी एक को बड़ी पारी खेलनी होगी.

दीपक हुड्डा, संजू सैमसन और जेम्स फॉक्नर को भी जी-जान लगानी होगी.

'गंभीर' चुनौती

इमेज कॉपीरइट AFP

वही कोलकाता के कप्तान गौतम गंभीर को अपना जलवा दिखाना होगा. इस बार एकाध मैच को छोडकर वह छोटे स्कोर को बड़े स्कोर में नही बदल पाए.

उन्होने अपना पिछला अर्धशतक नौ मैच पहले दिल्ली के ख़िलाफ लगाया था. युसूफ पठान को भी रन गति को तेज़ करना होगा.

गेंदबाज़ी में उमेश यादव को अंतिम ओवर में महंगा होने से बचना होगा. सुनील नारायन ज़रूर इस मैच में बड़ा अंतर साबित हो सकते है.

आंकड़ो में दोनो टीमें अभी तक 15 बार आमने-सामने हुई है जिनमें 8 बार राजस्थान और 6 बार कोलकाता जीती है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार