बदले तेवर के साथ उतरेेगा बांग्लादेश

इमेज कॉपीरइट AFP

पांच साल बाद बांग्लादेश का दौरा कर रही भारतीय क्रिकेट टीम बुधवार को फ़तुल्लाह क्रिकेट मैदान में एकमात्र टेस्ट मैच खेलने मैदान में उतरेगी.

भारत ने इससे पहले साल 2009-10 में बांग्लादेश से दो टेस्ट मैचों की सिरीज़ खेली थी और उसे 2-0 से जीता था.

भारत और बांग्लादेश के बीच अभी तक सात टेस्ट मैच खेले गए हैं, छह में भारत विजयी रहा है और एक टेस्ट मैच ड्रा रहा.

विराट कोहली की कप्तानी में भारत ने एक बेहद मज़बूत टीम टेस्ट मैच के लिए चुनी है.

टीम से अंदर-बाहर

इमेज कॉपीरइट Getty

टीम में सलामी बल्लेबाज़ मुरली विजय, शिखर धवन के अलावा मध्यमक्रम में विराट कोहली, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, रोहित शर्मा और रिद्धिमान साहा जैसे बल्लेबाज़ है.

हरभजन सिंह, आर अश्विन और करन शर्मा तीन स्पिनर हैं. तेज़ गेंदबाज़ों में ईशांत शर्मा, भुवनेश्वर कुमार, उमेश यादव और वरुण एरोन शामिल हैं.

हरभजन सिंह ने अपना पिछला और 102 वां टेस्ट मैच मार्च 2013 में हैदराबाद में ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ खेला था.

अब इसे केएल राहुल का दुर्भाग्य ही कहा जाएगा कि उन्हें डेंगू हो गया और टीम से बाहर होना पड़ा.

केएल राहुल इससे पहले अपना आख़िरी टेस्ट मैच ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ इसी साल जनवरी में खेले थे और उन्होंने पहली पारी में शानदार 110 रन भी बनाए थे.

वापसी

इमेज कॉपीरइट AP

इस टेस्ट मैच में किन बातों पर सबका ध्यान रहेगा इसे लेकर क्रिकेट समीक्षक विजय लोकपल्ली कहते हैं कि केएल राहुल की अनुपस्थिति में शिखर धवन के पास एक और अवसर है जब वो टेस्ट क्रिकेट में अपनी उपयोगिता साबित करें.

मुरली विजय तो पिछले ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर स्टार बल्लेबाज़ की तरह चमके ही थे. चेतेश्वर पुजारा के लिए ऑस्ट्रेलिया दौरा इतना अच्छा नहीं था उनके लिए भी रन बनाना ज़रूरी है.

विराट कोहली पहली बांग्लादेश के ख़िलाफ़ टेस्ट मैच खेलेंगे. इससे पहले वह 33 टेस्ट मैच खेल चुके हैं.

काग़ज़ पर भले ही भारतीय टीम बेहद मज़बूत हो लेकिन लोकपल्ली कहते हैं कि पिछले दिनो बांग्लादेश ने जिस तरह से पाकिस्तान के ख़िलाफ़ शानदार खेल दिखाया उसे देखते हुए भारत उसे हल्के में बिल्कुल ना ले.

फ़तह

इमेज कॉपीरइट AFP

वैसे फ़तुल्लाह की विकेट पर घास होगी जिसे देखकर बांग्लादेश श्रीलंकाई कोच चंडिका हथुरुसिंघे ख़ुद हैरान रह गए और उन्होंने कहा कि ऐसी पिच उन्होंने पहले कभी नहीं देखी.

दूसरी तरफ बांग्लादेश की एकदिवसीय क्रिकेट टीम के कप्तान मशर्फे मुर्तज़ा ने कहा है कि टीम वास्तविकता को जानती है और उनका उद्देश्य टेस्ट मैच को ड्रा कराना होगा.

लेकिन टेस्ट टीम के कप्तान मुश्फ़िक़ुर रहीम ने कहा है कि पिछले कुछ सालों में टीम के खेल में सुधार हुआ है और दोनों टीमों के जीतने की 50-50 प्रतिशत संभावना है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार