सेबेस्टियन को आईएएएफ के नए अध्यक्ष

  • 19 अगस्त 2015
स्बेस्टियन कोए इमेज कॉपीरइट Getty

पंद्रह सौ मीटर की दौड़ में दो बार ओलंपिक का स्वर्ण पदक जीतने वाले सेबेस्टियन को एथलेटिक्स पर नियंत्रण रखने वाली संस्था आईएएएफ़ के नए अध्यक्ष चुने गए हैं.

बीजिंग में हुए चुनाव में 214 महासंघों ने मतदान किया. डोपिंग के आरोपों के बाद से इस संस्था की प्रतिष्ठा में गिरावट आई है.

ब्रितानी नागरिक सेबेस्टियन 82 साल के सेनेगल के लैमिन डियाक की जगह लेंगे, जो पिछले 16 साल से आईएएएफ़ के अध्यक्ष का पद संभाल रहे थे.

डोपिंग का साया

इस चुनाव में सेबेस्टियन को के प्रतिद्वंदी थे यूक्रेन के पोल वॉल्ट के खिलाड़ी सर्गेई बुबका. सेबेस्टियन को का शुरुआती कार्यकाल चार साल का होगा.

उन्हें 115 मत मिले, जबकि बुबका को 92 मतों से ही संतोष करना पड़ा. जिस निष्पक्षता से ये चुनाव हुए उसके लिए को ने संगठन की तारीफ की.

इमेज कॉपीरइट Getty

जुलाई में बीजिंग में वर्ल्ड एथलेटिक चैम्पियनशिप शुरू होने से तीन दिन पहले ही ये चुनाव करवाए गए थे.

उन्होंन कहा कि उनकी जीत उनके बच्चों के जन्म के बाद उनके जीवन की दूसरा सबसे बड़ा महत्तपूर्ण अवसर था.

सुधार की घोषणा

चुनाव में मिली जीत के बाद एक ट्वीट में सेबेस्टियन को ने कहा, ''आईएएएफ परिवार ने जिस तरह का विश्वास उनमें दिखाया है, उससे उन्हें खुशी और गर्व की अनुभूति हो रही है.''

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption आईएएएफ के चुनाव में 214 महासंघों ने हिस्सा लिया.

सेबेस्टियन को और साल 1998 में पोल वाल्ट का स्वर्ण पदक जीतने वाले बबुका ने अपने घोषणा पत्र में एथलेटिक्स में सुधार की घोषणाएं की थीं.

इन दोनों खिलाड़ियों ने कहा था कि वो चाहते हैं कि खेल बड़े पैमाने पर दर्शकों और युवाओं को आकर्षित करे.

हालांकि आरोपों की शृंखला के बाद चुनाव पर एंटी डोपिंग एजेंडा हावी होने लगा था.

को ने इस समस्या के समाधान के लिए एक स्वतंत्र पैनल के गठन का प्रस्ताव किया है, जबकि बबुका चाहते थे कि डोपिंग में पकड़े जाने वालों पर कड़े प्रतिबंध लागू करने से पहले इसका व्यापक अध्ययन किया जाए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार