फ़ीफ़ा प्रमुख के ख़िलाफ़ आपराधिक जाँच

  • 25 सितंबर 2015
सेप ब्लैटर

अंतरराष्ट्रीय फ़ुटबॉल फ़ेडरेशन फ़ीफ़ा के प्रमुख सेप ब्लैटर के ख़िलाफ़ आपराधिक जाँच शुरू की गई है.

स्विट्ज़रलैंड के अटॉर्नी जनरल के प्रतिनिधियों ने ब्लैटर से पूछताछ की और उनके कार्यालय की तलाशी भी ली गई.

फ़ीफ़ा ने कहा है कि वो इस जाँच में सहयोग कर रहा है. 79 वर्षीय ब्लैटर 1998 से फ़ीफ़ा के अध्यक्ष हैं. उन्होंने हमेशा ही किसी भी ग़लत काम से इनकार किया है.

एक बयान में अटॉर्नी जनरल के कार्यालय ने कहा था कि सेप ब्लैटर के ख़िलाफ़ 'आपराधिक कार्यवाही' शुरू की गई है.

बयान में ये भी कहा गया है कि ब्लैटर के ख़िलाफ़ कुप्रबंधन और वित्तीय गबन के संदेह में जाँच की जा रही है.

इससे पहले फ़ीफ़ा को ज्यूरिख में एक प्रेस कॉन्फ़्रेंस करना था, जो रद्द कर दिया गया है.

आरोप

इमेज कॉपीरइट EPA

अटॉर्नी जनरल के कार्यालय ने कहा है कि जाँच एक टीवी राइट्स समझौते को लेकर है, जो ब्लैटर ने कैरेबियाई फ़ुटबॉल प्रमुख जैक वॉर्नर के साथ वर्ष 2005 में साइन किया था.

बयान के मुताबिक़ फ़ीफ़ा प्रमुख ब्लैटर पर 2011 में यूएफ़ा के प्रमुख मिशेल प्लातिनी को अनैतिक भुगतान करने का भी संदेह है.

पिछले दिनों अंतरराष्ट्रीय फ़ुटबॉल फ़ेडरेशन फ़ीफ़ा के महासचिव जेरोम वाल्क को निलंबित कर दिया गया था. फ़ीफ़ा ने अपने बयान में कहा था कि संस्था को महासचिव से जुड़े कई आरोपों के बारे में जानकारी दी गई है.

इस साल मई से फ़ीफ़ा भ्रष्टाचार के कई आरोपों से घिरा हुआ है. इसी महीने स्विट्ज़रलैंड की पुलिस ने ज्यूरिख के एक होटल में छापा मारकर फ़ीफ़ा के कई अधिकारियों को गिरफ़्तार किया था.

जून में फिर से फ़ीफ़ा का अध्यक्ष चुने जाने के बाद सेप ब्लैटर ने घोषणा की कि वे पद से हट जाएँगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार