एकदिवसीय सिरीज़ बचाने उतरेगा भारत

महेंद्र सिंह धोनी कप्तान भारत इमेज कॉपीरइट Reuters

दक्षिण अफ्रीका और भारत के बीच मौजूदा एकदिवसीय सिरीज़ का चौथा मैच गुरुवार को चेन्नई में खेला जाएगा.

भारत की टीम पहले ही 2-1 से पीछे है.

दक्षिण अफ्रीका की क्रिकेट टीम से ट्वेंटी-ट्वेंटी सिरीज़ 2-0 से हारने के बाद अब भारतीय क्रिकेट टीम एकदिवसीय अंतराष्ट्रीय क्रिकेट मैचों की सिरीज़ बचाने मैदान में उतरेगी.

दक्षिण अफ्रीका ने इससे पहले कानपुर मे पहला मैच 5 रन से जीता था.

भारत ने इंदौर में खेले गए दूसरे मैच को 22 रन से जीतकर 1-1 की बराबरी हासिल की.

इसके बाद दक्षिण अफ्रीका ने राजकोट में खेला गया तीसरा मैच 18 रन से अपने नाम किया.

इमेज कॉपीरइट Reuters

राजकोट में खेले गए तीसरे एकदिवसीय मैच में भारत के सामने जीत के लिए 271 रनों का लक्ष्य था लेकिन वह 6 विकेट खोकर 252 रन ही बना सका.

रोहित शर्मा ने 65 रन बनाए लेकिन 74 गेंद पर.

विराट कोहली भी अपने जाने-पहचाने तीसरे नम्बर पर उतरे और 77 रन बनाने में कामयाब रहे. उन्होंने भी इसके लिए 99 गेंदों का सामना किया.

कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने भी 47 रन बनाए, लेकिन उन्होंने भी 61 गेंदों का सहारा लिया.

रन और गेंदों के बीच यही अंतर भारत को ले डूबा. हालत यह हुई कि आखिरी ओवरों में पुछल्ले बल्लेबाज़ बढ़ती रन रेट का सामना नही कर सके.

इमेज कॉपीरइट PTI

भारत के सलामी बल्लेबाज़ शिखर धवन ना तो ट्वेंटी-ट्वेंटी मैचों में चल पाए और ना ही अभी एकदिवसीय सिरीज़ में कुछ कर पा रहे हैं.

पिछले तीनों एकदिवसीय मैचों में उन्होंने क्रमश: 23-23 और 13 रन बनाए हैं.

सुरेश रैना का तो पिछले दो मैचों में खाता तक नही खुला और पहले मैच में उन्होंने केवल तीन रन बनाए.

अब अगर दो महत्वपूर्ण बल्लेबाज़ फॉर्म में ना हो तो टीम बड़ा स्कोर कैसे बनाए.

अजिंक्य रहाणे को तो ख़ुद नहीं पता कि वह किस नम्बर पर खेलेंगे.

पहले दो मैचों में शानदार अर्धशतक बनाने के बावजूद कप्तान धोनी ने उन्हें पिछले मैच में नम्बर 6 पर बल्लेबाज़ी करने भेजा.

इसके विपरीत धोनी ख़ुद बेहतरीन फिनिशर माने जाते हैं. तो क्या धोनी को अब ख़ुद पर भरोसा नहीं रहा.

इमेज कॉपीरइट AFP

दक्षिण अफ्रीका के तेज़ गेंदबाज़ डेल स्टेन, एल बी मोर्कल और कैगिसो रबाडा के अलावा लैग स्पिनर इमरान ताहिर ने भारतीय बल्लेबाज़ों को खुलकर खेलने नही दिया.

वहीं क्विंटन डी कॉक ने शतकीय पारी खेलकर भारतीय गेंदबाज़ों पर दबाव बना दिया.

डेविड मिलर मध्यम क्रम में नहीं चले तो सलामी बल्लेबाज़ के रूप में उतरकर उन्होंने 33 रन बनाकर खोया आत्मविश्वास हासिल कर लिया.

फॉफ डू प्लेसिस और फरहान बेहारदीन भी बेहतरीन बल्लेबाज़ी कर रहे हैं.

ऐसे में चेन्नई की गर्मी के बीच भारत को मैच जीतकर सिरीज़ को जीवंत बनाए रखने के लिए पूरा ज़ोर लगाना होगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार